प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था?

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था?

नमस्कार दोस्तो, आपने अपने जीवन के अंतर्गत अक्सर अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन के बारे में तो जरूर सुना होगा, या फिर कहीं ना कहीं तो इसके बारे में जरूर पढ़ा होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था, (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha) यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था, (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha)हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था? (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha)

दोस्तों कई अलग-अलग प्रकार की परीक्षाओं के अंतर्गत प्रथम अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन कब और कहां हुआ था, से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं, तथा वहां पर अनेक छात्रों को इस सवाल के बारे में जानकारी नहीं होती है। यदि दोस्तों आपको भी इस विषय के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन का आयोजन 3 जून 1992 से लेकर 14 जून 1992 के बीच रियो डी जेनेरो के अंतर्गत किया गया था। इस अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन के अंतर्गत विकसित तथा विकासशील दोनों देशों के अलग-अलग प्रतिनिधियों ने भाग लिया था।

अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन क्या होता है? (antarrashtriya prithvi sammelan kya hota hai)

pratham vishwa prithvi sammelan kahan aayojit hua tha

जैसा कि दोस्तों आप सभी लोगों को पता होगा कि इस पृथ्वी के लिए सबसे महत्वपूर्ण वस्तु पर्यावरण होता है, और इस पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव जंतु मुख्य रूप से पर्यावरण पर ही निर्भर करते हैं। लेकिन आपको पता होगा कि धीरे-धीरे पर्यावरण प्रदूषित होती जा रहा है, तथा मानव जाति के द्वारा इस को काफी नुकसान पहुंचाया जा रहा है, जिस के दुष्प्रभाव हमें लगा तार देखने को मिल रहे है। इसी समस्या का समाधान करने के लिए तथा पर्यावरण का विकास करने के लिए अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन का आयोजन किया जाता है जिसके अंतर्गत अलग-अलग देशों से प्रतिनिधि इस में भाग लेते हैं, और उसके अंतर्गत इस विषय पर मुख्य रुप से ध्यान दिया जाता है, कि पर्यावरण को किस तरह से प्रदूषित होने से बचाना है, किस तरह से पर्यावरण का विकास करना है, और इसको सही तरह कैसे इस्तेमाल करने के लिए अलग-अलग चीजों पर बात की जाती है।

आज आपने क्या सीखा

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था, (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha) हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत के विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। इसके अलावा हमने आपके साथ इस पोस्ट के अंतर्गत अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन से जुड़ी कुछ अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी शेयर की है, जैसे कि अंतरराष्ट्रीय पति सम्मेलन क्या होता है, इसके अंतर्गत किन किन विषय के बारे में चर्चा की जाती है, तथा प्रथम अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन कब हुआ था। आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा इस विषय के बारे में अपनी राय हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

अब तक कितने पृथ्वी सम्मेलन हो चुके हैं?

पहला शिखर सम्मेलन 1972 में स्टॉकहोम (स्वीडन) में, दूसरा 1982 में नैरोबी (केन्या) में, तीसरा 1992 में रियो डी जनेरियो (ब्राजील) में और चौथा जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका) में 2002 में आयोजित किया गया था। अर्थ रियो+20 शिखर सम्मेलन भी 2012 में रियो डी जनेरियो में आयोजित किया गया था।

दूसरा पृथ्वी सम्मेलन कहाँ हुआ था?

पर्यावरण पर दूसरा पृथ्वी सम्मेलन 26 अगस्त से 4 सितंबर 2002 तक जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका में सतत विकास और वास्तविक कार्रवाई की उम्मीद के पक्ष में एक राजनीतिक प्रतिबद्धता के साथ आयोजित किया गया था।

पृथ्वी का दूसरा नाम क्या है?

पृथ्वी या पृथ्वी एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है “विशाल भूमि”। एक अलग किंवदंती के अनुसार, महाराजा पृथु के नाम पर इसका नाम पृथ्वी रखा गया। इसके अन्य नामों में शामिल हैं- धरा, भूमि, धृति, रस, रत्नाभ आदि।

24 घंटे में पृथ्वी कितनी बार घूमती है?

24 घंटे में पृथ्वी अपनी धुरी पर 360° का एक चक्कर पूरा करती है। 1 डिग्री देशांतर 4 मिनट के बराबर होता है। 15 डिग्री देशांतर 1 घंटा है।