Computer क्या है? - What is Computer in Hindi?

Computer क्या है? – What is Computer in Hindi?

आज के आधुनिक समय में कंप्यूटर काफी लोकप्रिय हो गया है। बिना कंप्यूटर के हम किसी भी तरह का कार्य करने में सक्षम हो जाते हैं। इसलिए आज के Digitalization के जमाने में कंप्यूटर एक Luxry वस्तु नहीं बल्कि हमारी जरूरत बन गया है।

इसलिए यह जरूरी है कि हमें भी कंप्यूटर के बारे में सभी तरह की जानकारियां हो और कई लोग कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में जानना भी चाहते हैं।

तो चलिए आज के इस लेख में हम आपको कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में बताते हैं और साथ ही कंप्यूटर से संबंधित अन्य तरह की जानकारियां भी आपको प्रदान करने की कोशिश करते हैं।

कंप्यूटर क्या है? | Computer kya hai

कंप्यूटर एक तरह का Automatic Electronic Machine है जो किसी भी प्रकार का Calculation और Data Process करने में हमारी मदद करती है। कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहा जाता है।

शुरुआती समय में कंप्यूटर को केवल गणना करने के लिए ही बनाया गया था परंतु बाद में इसमें कुछ अलग प्रकार के Software,  Hardware, और Firmware को जोड़ा गया जिसके माध्यम से कंप्यूटर अब और भी अलग-अलग तरह के काम करने में सक्षम है।

कंप्यूटर का Full form | Computer ka full form

C – Commonly

O – Operated

M – Machine

P – Particularly

U – Used for

T – Technical and

E – Educational

R – Research

कंप्यूटर की परिभाषा क्या है?

definition of computer in hindi

कंप्यूटर की सबसे आसान परिभाषा यह है कि कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो किसी भी तरह की Information या Data को ढूंढने में, Store करने में, Arrange करने में, Calculate करने में हमारी मदद करता है। इसके अलावा यह दूसरी Electronic Machines पर भी नियंत्रण रख सकता है।

हेनरी फोर्ड के अनुसार, “कंप्यूटर विद्युत तथा यांत्रिक कल पुर्जों के सम्मेलन से बनी एक ऐसी युक्ति है जिसमें अनेक निर्देश समाहित रहते हैं। किसी समस्या के हल के लिए कंप्यूटर उपयोगकर्ता से आवश्यक आंकड़े ग्रहण करता है और उन आंकड़ों पर समस्या से संबंधित निर्देशों का पूर्व निर्धारित क्रम में अनुपालन करते हुए कार्य करता है। इसके बाद प्राप्त परिमाण को उपयुक्त स्वरूप में परिवर्तित करके उपयोगकर्ता को प्रस्तुत करता है।”

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के अनुसार, “कंप्यूटर एक स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो अनेक प्रकार की तर्कपूर्ण घटनाओं के लिए प्रयोग की जाती है।”

इन परिभाषाओं के आधार पर हम यह कह सकते हैं कि कंप्यूटर को बिना किसी व्यक्ति के चलाना असंभव है। जब तक कि कोई user कंप्यूटर को किसी तरह का Command नहीं देता तब तक कंप्यूटर किसी भी तरह की घटना या कार्य नहीं कर सकता।

कंप्यूटर और दिमाग

कंप्यूटर हर दिन मानव मस्तिष्क की तरह होते जा रहे हैं। मानव मस्तिष्क अरबों न्यूरॉन्स और सिनेप्स से बना एक अंग है। ये न्यूरॉन्स और सिनेप्स सूचना को संसाधित और संग्रहीत करने के लिए एक साथ काम करते हैं। कंप्यूटर भी लाखों ट्रांजिस्टर से बने होते हैं, जो मानव मस्तिष्क में न्यूरॉन्स के समान सूचनाओं को संसाधित करने के लिए मिलकर काम करते हैं।

कंप्यूटर कैसे मानव मस्तिष्क की तरह हो सकता है, इस पर शोध से समाज के लिए कई लाभ हो सकते हैं। एक संभावित लाभ यह है कि हम यह समझने में मदद करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करने में सक्षम हो सकते हैं कि मानव मस्तिष्क पहले से कहीं ज्यादा बेहतर तरीके से कैसे काम करता है। इससे न्यूरोलॉजिकल रोगों के साथ-साथ मानसिक बीमारियों जैसे अवसाद और चिंता की बेहतर समझ हो सकती है।

कंप्यूटर क्या कर सकते हैं?

कंप्यूटर का इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है। कंप्यूटर का उपयोग सूचनाओं की गणना, भंडारण और संचार के लिए किया जाता है। कंप्यूटर का उपयोग कई अन्य कार्यों के लिए भी किया जाता है।

कंप्यूटर एक मशीन है जिसे बाइनरी भाषा और तर्क का उपयोग करके अंकगणित या तार्किक संचालन के अनुक्रम को स्वचालित रूप से करने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है। कंप्यूटर को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है: पर्सनल कंप्यूटर, सर्वर और मेनफ्रेम।

पर्सनल कंप्यूटर सबसे सामान्य प्रकार के कंप्यूटर हैं क्योंकि वे आमतौर पर सर्वर या मेनफ्रेम से सस्ते होते हैं और वे सर्वर या मेनफ्रेम की तुलना में कम तकनीकी सहायता आवश्यकताओं के साथ आते हैं। पर्सनल कंप्यूटर को दो प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है: डेस्कटॉप पीसी और लैपटॉप पीसी। डेस्कटॉप पीसी में लैपटॉप पीसी की तुलना में बड़ी स्क्रीन होती है, लेकिन उन्हें आमतौर पर अधिक स्थान की आवश्यकता होती है क्योंकि स्क्रीन कंप्यूटर में ही नहीं बनाई जाती है जैसे लैपटॉप पीसी करते हैं।

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं? | Type of Computer

कंप्यूटर चार प्रकार के होते हैं जिससे अलग-अलग कामों के लिए उपयोग में लाया जाता है। तो चलिए कंप्यूटर के प्रकारों को विस्तार पूर्वक समझते हैं:-

meaning of computer in hindi

सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

सुपर कंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर होता है जो काफी महंगा और Powerful होता है। इससे अक्सर किसी बड़े बड़े कार्यो को संपन्न करने के लिए उपयोग में लाया जाता है जैसे कि NASA द्वारा जिन कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है वह सुपर कंप्यूटर कहलाते हैं। सुपर कंप्यूटर का उपयोग अक्सर Space Shuttel लॉन्च करने या Rocket को Control करने इत्यादि चीजों के लिए किया जाता है।

मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)

मेनफ्रेम कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर से कम पावरफुल होता है परंतु इसे भी अक्सर बड़े ऑर्गनाइजेशन द्वारा ही उपयोग में लाया जाता है। मेनफ्रेम कंप्यूटर को अक्सर Government Organization या Government company उपयोग में लाती है ताकि वे सभी तरह के Data या Information को एक ही जगह पर आसानी से Store कर पाए। इसके अलावा कुछ बड़ी कंपनी banks और Educational Institution द्वारा भी मेनफ्रेम कंप्यूटर का ही उपयोग करते हैं।

मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)

Mini Computer मेनफ्रेम और सुपरकंप्यूटर से काफी अलग होता है। इसे अक्सर फॉर्म द्वारा या छोटी छोटी कंपनियों द्वारा उपयोग में लाया जाता है। मिनी कंप्यूटर को हम Midrange Computer भी कहते हैं।

माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)

Micro Computer ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो आमतौर पर लगभग सभी लोगों द्वारा उपयोग किया जाता है जैसे- Laptop, Desktop, Tablet, Smartphone, Smartwatch, इत्यादि। माइक्रो कंप्यूटर अन्य प्रकार के कंप्यूटर के तुलना में सस्ते होते हैं और लगभग सभी लोगों के द्वारा उपयोग में लाए जाते हैं।

माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग ही गेमिंग के लिए या Entertainment के लिए या Education के लिए किया जाता है।

Also read: Generation of computer in hindi

कंप्यूटर की खोज किसने की?

कंप्यूटर की खोज Charles Babbage ने की थी। चार्ल्स बैबेज को ही कंप्यूटर का पिता या कंप्यूटर का जनक कहा जाता है, क्योंकि इन्होंने ही सर्वप्रथम Mechanical Computer का निर्माण किया था और उसका नाम Analytical Engine रखा था।

जब पहली बार कंप्यूटर को Design किया गया था तो कंप्यूटर इतना बड़ा होता था कि उसे चलाने के लिए एक बड़ी टीम की आवश्यकता पड़ती थी। उस समय कंप्यूटर एक तरफ की बड़ी सी मशीन थी जिसे चलाने के लिए अलग-अलग व्यक्ति काम करते थे। परंतु आज के कंप्यूटर Modern हो गए हैं जो कि Artificial Intelligence के आधार पर काम करते हैं। Modern Computer की खोज सन 1985 में की गई जो अभी तक चलती आ रही है और इसमें अलग-अलग प्रकार के बदलाव भी किए जा रहे हैं।

कंप्यूटर की विशेषताएं

कंप्यूटर की कई सारी विशेषताएं हैं। शायद कंप्यूटर की विशेषताओं को बताने के लिए हमें पूरा दिन भी लग सकता है। परंतु हम आपको कंप्यूटर की कुछ आवश्यक विशेषताओं के बारे में बताने का प्रयास करते हैं।

1. कंप्यूटर एक Multi-Tasking Device है जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति एक ही समय में अलग-अलग Task एक साथ पूरे कर सकता है।

2. कंप्यूटर की एक सबसे बड़ी विशेषता यह है कि हम कंप्यूटर के माध्यम से किसी भी कार्य को Speedly कर सकते हैं। यदि हमें कोई भी Task Complete करना है तो कंप्यूटर के माध्यम से हम वह High Speed में कर पाएंगे और हमें बहुत ही कम समय लगेगा।

3. कंप्यूटर द्वारा किया गया कोई भी गणना बिल्कुल सही होता है इसलिए कंप्यूटर की एक सबसे बड़ी विशेषता इसकी Acurracy भी है।

4. कंप्यूटर हमारे Data को Secure रखता है। यानी कि जितने भी प्रकार के Digital Data हम कंप्यूटर के माध्यम से Store कर रहे हैं वह सभी Data Secure रहता है इसलिए इसे हम Data Security भी कहते हैं।

5. कंप्यूटर की एक सबसे बड़ी विशेषता यह भी है कि इसके माध्यम से हम कम समय में और कम खर्चे में बहुत ज्यादा Data आसानी से Store कर सकते हैं। क्योंकि कंप्यूटर में C होता है जो Centralized Database बड़ी और ज्यादा Quantity वाले Information को Store कर सकता है।

कंप्यूटर का उद्देश्य

कंप्यूटर को कई सारे उद्देश्यों के लिए Design किया गया है जो कि इस प्रकार हैं -:

1. कंप्यूटर का उद्देश्य किसी भी Calculation में तुलना करना और सही निर्णय लेना है।

2. कंप्यूटर का उद्देश्य किसी भी बड़े कार्य को आसान बनाना है और उसे कम समय में Acurracy के साथ पूरा करना है।

3. कंप्यूटर का सबसे बड़ा उद्देश्य यह भी है कि वह अलग अलग प्रकार के Data को Store करें और Command देने पर उससे संबंधित जानकारी हमें प्रदान करें।

4. कंप्यूटर को निश्चित Parameter के आधार पर कुछ Data को Automatically ही सही या Modify करने के उद्देश्य से भी बनाया गया है।

5. कंप्यूटर का उद्देश्य Audio Signals को Record करने और उसे चला कर सही Information ढूंढने में भी मदद करना है।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने आपको कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताई है। उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आपको कंप्यूटर से संबंधित अनेक जानकारियां मिल पाई होंगी। जिनके माध्यम से आप कंप्यूटर के बारे में समझ पाए होंगे। यदि आपको इस लेख से संबंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछना हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

FAQ

कंप्यूटर क्या है और इसके कार्य?

कंप्यूटर बहुत सारी सूचनाओं को संग्रहीत कर सकता है और सूचनाओं को संसाधित कर सकता है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक और स्वचालित उपकरण है। जो डेटा को स्वीकार करता है और उस डेटा को सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम के अनुसार परिणाम के लिए प्रोसेस करता है। जिसमें इनपुट डिवाइसेज द्वारा प्राप्त निर्देशों के आधार पर परिणाम निष्पादित किया जाता है।

कंप्यूटर के पिता कौन है?

चार्ल्स बैबेज एक अंग्रेजी पॉलीमैथ थे। वह एक गणितज्ञ, दार्शनिक, आविष्कारक और मैकेनिकल इंजीनियर थे, जिन्हें वर्तमान में कंप्यूटर प्रोग्राम की अवधारणा को आगे बढ़ाने के लिए जाना जाता है या याद किया जाता है, चार्ल्स बैबेज को “कंप्यूटर का पिता” कहा जाता है। कंप्यूटर) माना जाता है।

कंप्यूटर की विशेषताएं क्या है?

कंप्यूटर एक मशीन है जो कुछ निर्देशों के अनुसार काम करती है। अधिक कहने के लिए, कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो इनपुट उपकरणों की मदद से डेटा को स्वीकार करता है, उन्हें संसाधित करता है और उन डेटा को आउटपुट डिवाइस की मदद से जानकारी के रूप में प्रदान करता है।

कंप्यूटर का जन्म कब हुआ था?

कंप्यूटर का अविष्कार किस सन में हुआ था ? पहला मैकेनिकल कंप्यूटर का आविष्कार 1822 में चार्ल्स बैबेज ने किया था, लेकिन यह वर्तमान कंप्यूटर की तरह बिल्कुल भी नहीं दिखता था। जबकि 1837 में चार्ल्स बैबेज ने एनालिटिकल इंजन नाम के पहले सामान्य मैकेनिकल कंप्यूटर का प्रस्ताव रखा।

Leave a comment