मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान – Melamet Cream uses in Hindi

दोस्तों आज के समय महिलाएं अपने चेहरे को लेकर चर्चा को लेकर काफी संवेदनशील है, और इसलिए महिलाएं आमतौर पर मेलाजमा की बीमारी से निपटने के लिए मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल करना पसंद करती है। आमतौर पर यह देखा गया है कि मेलामेट क्रीम का उपयोग करके त्वचा रोगों में इसका काफी अच्छा फायदा देखा जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मेलामेट क्रीम के फायदे हिंदी में | Melamet cream uses in hindi क्या है?

यदि आप नहीं जानते और जानना चाहते हैं कि मेलामेट क्रीम का उपयोग किस प्रकार किया जाता है तो आज के लेख में आपको हमारे साथ बने रहना है। आज हम आपको उसके बारे में यह बताएंगे कि इसका उपयोग कैसे किया जाता है, यानी कि Melamet cream uses in hindi कैसे किया जाता है। इसके साइड इफेक्ट क्या हो सकते हैं, इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं, यह कैसे काम करती है इसके बारे में आपको सारी जानकारी देंगे।

मेलाजमा बीमारी क्या है? | melamet bimari kya hai in hindi

मेलाजमा बीमारी एक त्वचा संबंधी रोग है इस रोग के दौरान आमतौर पर चेहरे पर हाथों पर या शरीर के अन्य किसी भाग पर त्वचा के आम रंग कितने गहरे काले धब्बे होना शुरू हो जाते हैं। यह गहरे भूरे धब्बे भी हो सकते हैं। आमतौर पर किए त्वचा के जले के निशान होते हैं जो कि आमतौर पर सूरज से जलने के निशान के तौर पर समझा जा सकता है।

कई महिलाएं या पुरुषों की त्वचा भी सूरज की रोशनी के प्रति अत्यधिक संवेदनशील होती है। इसलिए कई बार प्रचार को सूरज की रोशनी के डायरेक्ट कांटेक्ट में लाने से कई लोगों को त्वचा की जलने की शिकायत होने लगती है। आमतौर पर चेहरे पर छोटे-छोटे धब्बे होना शुरू हो जाते हैं और यह दिखने में काफी भीड़ होने लगते हैं। मेलाजमा की बीमारी से निपटने के लिए मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल किया जाता है।

मेलामेट क्रीम का उपयोग कैसे किया जाता है? | Melamet cream uses in hindi

melamet face cream
melamet face cream | मेलामेट क्रीम चेहरे पर कैसे लगाएं

मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल मेलाजमा की बीमारी से निपटने के लिए किया जाता है। यह त्वचा को जल्दी-जल्दी नहीं जैसी बनाने में मदद करता है। इसके साथ ही त्वचा की लालिमा लौटा देता है। त्वचा को सूजन और खुजली से राहत देता है। यदि डॉक्टर के अनुसार बताए गए मेलाजमा की बीमारी को निपटने के लिए मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल आप कर रहे है, तो इसका उपयोग आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

यदि आप के चेहरे पर भी छोटे छोटे काले धब्बे के निशान हैं जो कि सूरज की रोशनी से जलने के हो सकते हैं, तो आपको बिना डॉक्टर की सलाह के मेलाजमा के बीमारी का होने का अंदेशा नहीं करना चाहिए, तथा मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल बिना डॉक्टर की अनुमति के नहीं करना चाहिए।

हो सकता है आपको मेलामेट क्रीम से एलर्जी हो, और आप जिन धब्बों को हटाने के लिए मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल करें और मेलामेट क्रीम उससे भी अधिक धब्बे बढ़ाने में अपना योगदान दें दें। इसलिए एक त्वचा विशेषज्ञ की जानकारी से ही आपको मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए।

मेलामेट क्रीम कैसे यूज़ करे | melamet cream kaise use kare

मेलामेट क्रीम को इस्तेमाल करने का तरीका इस प्रकार है:-

  • Melamet Cream को रात में सोने से पहले लगाए.
  • क्रीम लगाने के पहले अपना चेहरा अच्छे से धो लें.
  • इसके बाद चेहरे को किसी नरम कपड़े या टॉवेल से थपथपाते हुए पोछ ले.
  • अब अपनी उंगलियों पर थोड़ी क्रीम ले और आपको जहां भी Dark Spot है, वहां पर लगा ले.
  • आँख, नाक और होंठो के आसपास क्रीम ना लगाए।
  • सुबह उठकर साफ पानी या Face Wash से मुँह धो ले.

मेलामेट क्रीम कैसे लगाएं | melamet cream kaise lagaye

मेलमेट क्रीम का उपयोग करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:-

  • सबसे पहले आप जिस जगह पर क्रीम लगाना चाहते हैं उसे साफ पानी या फेसवॉश से धो लें।
  • इसके बाद इसे मुलायम कपड़े से पोंछ लें।
  • अब उंगलियों पर थोड़ी सी क्रीम लें और इसे दाग वाली जगह पर लगाएं।
  • नाक, आंखों और होठों के आसपास क्रीम न लगाएं। और यह भी ध्यान रखें कि यह बाहरी त्वचा पर इस्तेमाल की जाने वाली क्रीम है। इसलिए इसे बाहरी त्वचा पर ही इस्तेमाल करें।

मेलामेट क्रीम कितने दिन लगाना चाहिए

त्वचा के टूटे या संक्रमित क्षेत्रों पर प्रयोग न करें। यदि आपको जलन या एलर्जी का अनुभव होता है, तो उपयोग बंद करें और अपने डॉक्टर से बात करें। बिना डॉक्टर की सलाह के 6-8 हफ्ते से ज्यादा इसका इस्तेमाल न करें।

मेलामेट क्रीम के उपयोग और इसके फायदे | melamet cream ke fayde

  1. मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल आमतौर पर अभिलाष बाकी बीमारी से निपटने के लिए किया जाता है।
  2. मेलास्मा की बीमारी के कारण त्वचा पर गहरे रंग के बजरंग धब्बे बन जाते हैं, जो पुरुषों से भी अधिक महिलाओं में देखने को मिलते हैं।
  3. आमतौर पर महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान गर्भनिरोधक गोलियों की वजह से और उनकी दवाओं की वजह से यह त्वचा पर लगी चोट के कारण कई प्रकार की गहरे काले धब्बे से निपटने का काम करना पड़ता है।
  4. यह त्वचा को बदरंग बनाने का काम कर सकता है, और इसके विरोध में मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल किया जाता है।
  5. यह मेलाजमा की बीमारी को पूरी तरह से दूर करने में काम करती है।
  6. हालांकि यह एक क्रीम है जो आपके चेहरे पर यह त्वचा पर लगाने के काम में आती है।
  7. एक बार यह क्रीम लगाने के पश्चात यह देखा गया है कि मेलाजमा की बीमारी पूरी तरह से धुंधली हो जाती है, और त्वचा अपने पुराने स्वरूप में फिर से आने लगती है।
  8. यह आपके आत्म सम्मान को आत्मविश्वास को बढ़ाने भी आपकी मदद करता है।

मेलामेट क्रीम के साइड इफेक्ट | melamet cream side effects

मेलामेट क्रीम के साइड इफेक्ट होने की संभावनाएं रहती है। इसलिए आप से यह अनुरोध है कि कृपया करके मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह के ना करें, क्योंकि एक त्वचा विशेषज्ञ ही आपको यह बता सकता है, कि आपको मेलामेट क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं।

निष्कर्ष

आशा है या आर्टिकल आपको बहुत पसंद आया हुआ इस आर्टिकल में हमने बताया मेलामेट क्रीम के फायदे और नुकसान बताइए | side effects of melamet cream के बारे मे संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो आप अपने दोस्तों के साथ भी Share कर सकते हैं अगर आपको कोई भी Question हो तो आप हमें Comment कर सकते हैं हम आपका जवाब देने की कोशिश करेंगे।

मेलामेट क्रीम कब लगाया जाता है?

रात को सोने से पहले मेलमेट क्रीम लगाएं। क्रीम लगाने से पहले अपने चेहरे को अच्छी तरह धो लें। इसके बाद चेहरे को किसी मुलायम कपड़े या तौलिये से थपथपाकर पोंछ लें।

स्किन क्रीम लगाने से क्या होता है?

अगर आप रात को सोते समय अपनी त्वचा पर नाइट क्रीम का इस्तेमाल करती हैं तो इससे आपकी त्वचा को पोषण मिलता है। मृत त्वचा हट जाती है और नई और स्वस्थ त्वचा कोशिकाएं बनने लगती हैं। जब आपकी त्वचा की कोशिकाएं नई और स्वस्थ होती हैं तो आपकी त्वचा में निखार आने लगता है और समय से पहले झुर्रियां नहीं पड़ती हैं।

HomepageClick Hear
GeneralClick Hear
TechnologyClick Hear
Share MarketClick Hear
BiographyClick Hear

Leave a comment