ओपल रत्न कितने दिन में असर दिखाता है?

ओपल रत्न कितने दिन में असर दिखाता है?

जब हम किसी समस्या में फसे होते हैं तो उस समस्या से छुटकारा पाने के लिए ज्योतिष के द्वारा हमारी राशि अनुसार कुछ रत्न पहनने का सुझाव दिया जाता है, जिससे हमें समस्याओं से धीरे-धीरे छुटकारा मिलने लगता है। रत्न कई प्रकार के होते हैं।

परंतु आज के इस लेख में हम आपको ओपल रत्न के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने वाले हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे ओपल रत्न कितने दिन में असर दिखाता है। इसके अलावा हम जानेंगे ओपल रत्न को कब और कैसे धारण करें? तो आइए इस लेख को शुरू करते हैं –

ओपल रत्न क्या है? | What is Opal Gemstone?

जिन जातकों का शुक्र ग्रह कमजोर होता है, उन्हें ज्योतिषी के द्वारा ओपल रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है। उप्पल उपरतन ही ओपल रतन के नाम से जाना जाता है। संस्कृत भाषा में इसे स्वागराज कहा जाता है तथा हिंदी भाषा में यह सागरराज नाम से जाना जाता है। ओपल रत्न रंगहीन होता है परंतु रंगहीन अवस्था में इसका मिलना बहुत दुर्लभ होता है।

उप्पल रत्न के प्रकार

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि प्रकृति में 16 प्रकार के ओपल पाए जाते हैं। जिनमें से काले और सफेद रंग के ओपल रतन अधिक मूल्यवान होते हैं। हल्के लाल रंग वाली ओपल भी अच्छी किस्म के माने जाते हैं।

कुछ ओपल मे सलेटी और नीले रंग के धब्बे होते हैं और यह पारदर्शी होते हैं। दूधिया दिखने वाले पीले रंग के सामान्य पत्थर होते हैं। ऐसे ओपल जिनमें चमक नहीं होती उन्हें निष्क्रिय समझा जाता है।

जिन ओपल से नारंगी रंग की चमक निकलती हो वह बिजिनेस की दृष्टि से उच्च श्रेणी के माने जाते हैं। ऐसे ओपल जो पारदर्शी होते हैं और बिना किसी चमक के होते हैं उन्हें फायर ओपल कहा जाता है।

ओपल रत्न कितने दिन में असर दिखाता है?

ओपल रत्न क्या है?

ज्योतिषी के अनुसार ओपल रतन को धारण करने के करीब 15 दिन से 1 महीने के अंदर असर दिखना शुरू हो जाता है।

ओपल रत्न किसे पहनना चाहिए?

किसी भी रतन को धारण करने से पहले ज्योतिषी की सलाह जरूर लेनी चाहिए। चलिए आपको बताते हैं कि ओपल रत्न किन जातको को धारण करना चाहिए:-

  1. ऐसे लोग जिनकी कुंडली में शुक्र अशुभ स्थान पर बैठा हो या फिर जिनका शुक्र कमजोर हो उन्हें ओपल रत्न धारण करना चाहिए।
  2. ऐसे लोग जिनके राशि वृषभ राशि और वृषभ लग्न हो, तुला राशि या तुला लग्न वाले जातक मिथुन लग्न, कन्या लग्न, मकर लग्न और कुंभ लग्न वालों के लिए भी ओपल रत्न को धारण करना शुभ होता है।
  3. ऐसे लोग जो कानूनी चकरों में फंसे हुए हैं, उन्हें ओपल रतन धारण करना चाहिए।
  4. ऐसे लोग जो आंखों के रोगों से ग्रस्त रहते हैं, ओपल रतन धारण करने से उन्हें आंखों के रोगों से राहत मिलेगी।

ओपल रत्न को किस उंगली में धारण करें?

यदि आप अपनी राशि के अनुसार रतन का चुनाव करते हैं तो यह भी जरूरी होता है कि आप उसे सही उंगली मे ही धारण करें। ओपल रत्न को दाएं हाथ की अनामिका उंगली में पहनना चाहिए।

ओपल रत्न को धारण करने की प्रक्रिया

जब ओपल रत्न को धारण करना हो तो उसे सबसे पहले कच्चे दूध और गंगाजल के साथ धो कर शुद्ध कर लेना चाहिए। इसके बाद अंगूठी को सफेद कपड़े पर रख दे। मंत्र जाप के साथ एक माला जाप करके उसके बाद अनामिका उंगली में इस रत्न को धारण करना चाहिए। इस प्रक्रिया को शुक्रवार के दिन शुक्ल पक्ष में ही करना चाहिए।

ओपल रत्न को पहचानने का तरीका

आइए, आपको कुछ तरीकों के बारे में बताते हैं जिससे आप असली ओपल रतन की पहचान कर सकते है:-

  • ओपल रतन को जासमीन के तेल में डुबोकर ही रखा जाता है। यदि ऐसा रतन जो जस्मिन के तेल में डुबोकर रखा गया है तो वह असली ओपल रतन होता है।
  • ओपल रत्न पारदर्शि रतन होता है, यदि उस रत्न पर प्रकाश डालने पर उसमें गहरा रंग उत्पन्न हो रहा है तो वह असली ओपल रतन है।
  • असली ओपल रतन पर प्रकाश की रोशनी जब पड़ती है, तो उसकी छाया लकीर के रूप में दिखाई देती है, यदि ऐसा नहीं है तो वह रतन नकली है।

ओपन रत्न किस धातु में धारण करना चाहिए?

वैसे तो ओपल रतन को चांदी की धातु में पहनना लाभदायक होता है परंतु आप इसे पंचधातु या फिर सोने में भी धारण कर सकते है।

ओपल रतन धारण करने के फायदे

आइए आपको ओपल रतन के कुछ फायदे के बारे में बताते है:-

  • ओपल रतन धारण करने से उन जातकों को फायदा होता है जिनका शुक्र ग्रह कमजोर होता है।
  • जो लोग ओपल रत्न को धारण करते हैं उन्हें जीवन में खुशियां और प्यार मिलता है।
  • जो जातक ओपल रत्न को धारण करता है उनके सामाजिक संबंध मजबूत होते है।
  • एकाग्रता और mental peace के लिए ओपल रतन धारण करना चाहिए।
  • ओपल रतन धारण करने के पश्चात जातकों को मान सम्मान मिलता है।
  • ब्लड से संबंधित बीमारियों से निजात मिलेगी।
  • काला ओपल धारण करने से शारीरिक सुरक्षा के भी बनी रहती है और बुरे सपने भी नहीं आता।

ओपल रत्न की कीमत

ओपल रत्न एक expensive रत्न है इसकी कीमत 5000 से लेकर 20000 तक हो सकती है।

ओपल रत्न पहनने के नुकसान

किसी भी रतन को धारण करने से पहले ज्योतिषी की सलाह जरूर करनी चाहिए। यदि ओपल रतन आपकी राशि को suit नहीं करता है तो यह आपके लिए नुकसानदायक ही होगा।

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के इस लेख में हमने जाना कि ओपल रत्न कितने दिन में असर दिखाता है। आशा करते हैं कि आप के लिए हमारा यह आर्टिकल उपयोगी साबित होगा। यदि इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में है तो आप हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं।

FAQ

ओपल पहनने से क्या होता है?

ओपल पहनने से व्यक्ति का भाग्य तो बनता ही है साथ ही उसका जीवन खुशियों से भर जाता है। इसे धारण करने से व्यक्ति को मानसिक शांति भी मिलती है। यदि कोई व्यक्ति ओपल धारण करना चाहता है तो वह किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के शुक्रवार को इसे धारण कर सकता है। इसे दाहिने हाथ की अनामिका में धारण करना चाहिए।

ओपल कितने रत्न का पहनना चाहिए?

कितने ओपल रत्न पहनने चाहिए, यह जानने का सबसे आसान तरीका है कि आप अपने वजन को देखें। मान लीजिए आपका वजन 60 किलो है। अगर यह ग्रे है तो 6 रत्ती के लिए ओपल धारण करने से आपको लाभ होगा।

ओपल कब पहनना चाहिए?

ओपल रत्न शुक्ल पक्ष की शुक्रवार की सुबह अपने दाहिने हाथ की मध्यमा या अनामिका में धारण करना चाहिए। ओपल रत्न धारण करने से पहले एक कटोरी में 1 चम्मच दही, शहद, गंगाजल, तुलसी के पत्ते और घी मिलाकर 10 मिनट के लिए रख दें।

Leave a comment