तेलंगाना कहाँ की भाषा है? जनसंख्या, अर्थ, और भोजन

दोस्तों, तेलंगाना राज्य आज के समय भारत में अपना एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। भारत के इस राज्य में रहने वाले नागरिक भारत का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उज्जवल करने की ओर अग्रसर रहते हैं। तेलंगाना राज्य एक अनोखा राज्य भी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि Telangana kaha ki bhasha hai? या तेलंगाना की भाषा क्या है?

यदि आप नहीं जानते और जानना चाहते हैं तो आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि तेलंगाना कब बना, तेलंगाना शब्द का अर्थ क्या है, telangana mai konsi bhasha boli jati hai hindi mein, तेलंगाना की कुल जनसंख्या क्या है, तेलंगाना का मुख्य भोजन क्या है, इन सब के बारे में आज हम आपको सारी जानकारी देंगे।

तो चलिए शुरू करते हैं:-

तेलंगाना कब बना? | telangana kab bana hai

दोस्तों तेलंगाना भारत का एक राज्य है जो भारत के 28वें राज्य तेलंगाना राज्य के रूप में भारत के आंध्र प्रदेश राज्य से अलग करके बनाया गया है। आज के समय तेलंगाना और आंध्र प्रदेश दोनों की राजधानी हैदराबाद है। यह आंध्र प्रदेश और हैदराबाद के सर्वाधिक तेलुगू भाषी इलाकों के सम्मेलन से बनाया गया है। तेलंगाना शब्द का एक अर्थ यह होता है कि ‘यह तेलुगु भाषियों की भूमि है।’

5 दिसंबर 2013 को आंध्र प्रदेश विधानसभा के द्वारा इसके प्रारूप विधेयक को मंजूरी दे दी गई थी, और 18 फरवरी 2014 को तेलंगाना विधेयक लोकसभा से भी पास हो गया था। जिसके पश्चात इसे राज्यसभा से भी आसानी से मंजूरी मिल गई, और भारत के 28 में नए राज्य के तौर पर तेलंगाना राज्य का निर्माण किया गया।

महामहिम राष्ट्रपति जी के हस्ताक्षर होते ही तेलंगाना को औपचारिक तौर पर भारत का 28 वा राज्य घोषित कर दिया गया। हालांकि तेलंगाना राज्य के निर्माण के समय लोकसभा में अधिक हंगामा हो गया था, जिसके कारण इसका टेलीविजन पर प्रसारण रोका गया था।

तेलंगाना कहाँ की भाषा है? | Telangana kaha ki bhasha hai?

telangana ki jansankhya kitni hai

तेलंगाना एक भाषा नहीं है, बल्कि एक राज्य है अर्थात एक भूमि के क्षेत्र का नाम है। यह भूमि के टुकड़े का नाम है। यह एक ऐसा भारत भूमि का टुकड़ा है जहां पर पूरे भारत में सर्वाधिक प्रतिशत तेलुगू भाषी लोग रहते हैं। तेलंगाना राज्य में आज के समय में 10 जिले आते हैं, जिसमें हैदराबाद आदिलाबाद, खम्मम, करीमनगर, महबूबनगर, मेडक, नालगोंडा, निजामाबाद, रंगारेड्डी, और वारंगल है।

आंध्र प्रदेश के 23 जिलों में से क्षेत्र के 10 जिले आ गए थे। इसके अलावा आंध्र प्रदेश में विधानसभा की 294 विधानसभा सीटें थी, जिसमें से 119 विधानसभा सीटें तेलंगाना क्षेत्र को मिल गई। आंध्रप्रदेश को 42 लोकसभा सीटों पर विभाजित किया गया था, जिसमें से 17 सीटें तेलंगाना को मिल चुकी है।

अक्टूबर 2016 को इन के 10 जिलों को पुनर्गठित किया गया था, जिसमें 21 नए जिलों का निर्माण किया गया। जिसके पश्चात इनकी कुल संख्या 31 हो गई है, और 17 फरवरी 2019 को 2 नए जिले भी बनाए गए। आज के समय तेलंगाना राज्य की कुल जिलों की संख्या 31 है, और उनके नाम कुछ इस प्रकार है:-

  • आदिलाबाद, महबूबनगर, रंगारेड्डी,
  • भद्राद्री कोठागुडेम, महबूबनगर, संगारेड्डी,
  • हैदराबाद, मैनचेरियल, सिद्दीपेट,
  • जागित्याल, मेडक, सूर्यापेट,
  • जनगांव, मेडचल, विकाराबाद,
  • जयशंकर भूपलपल्ली, नगरकर्नूल, वानपर्ति
  • जोगुलाम्बा गद्वाल, नालगोंडा, वारंगल ग्रामीण,
  • कामारेडी, निर्मल, वारंगल शहरी,
  • करीमनगर, निजामाबाद, यदद्री भुवनगरी,
  • खम्मम, पेद्दापल्ली, कोमाराम भीम असीफाबाद,
  • राजन्ना सिरसिल्ला यह सभी आज के समय तेलंगाना राज्य के 31 जिले हैं।

तेलंगाना की कुल जनसंख्या क्या है? | telangana ki jansankhya kitni hai

जो भी हम आपको आज के समय तेलंगाना की कुल जनसंख्या बताएं तो यह 3,60,00,000 से अधिक है इसके अलावा यहां पर 84% हिंदू, 12% मुस्लिम, 3% सिख एवं इसाई और बाकी के अन्य धर्म के अनुयाई लोग रहते हैं।

तेलंगाना शब्द का अर्थ क्या है?

तेलंगाना शब्द अपने आप में एक तेलुगु भाषा शब्द है, अर्थात तेलुगु शब्द है, जिसका अर्थ यह होता है कि “एक ऐसी भूमि जहां पर तेलुगु भाषी लोग रहते हैं”, या तेलुगु भाषियों की भूमि कहा जा सकता है।

तेलंगाना का मुख्य भोजन क्या है? | telangana ka mukh bhojan kya hai

दोस्तों आज के समय है सभी तेलंगाना के मुख्य भोजन है:-

  • सर्व पिंडी, मालीदालु, सकीनालु, गैरीजालु,
  • पाची पुलुसु, गोलिचिना ममसामो, हैदराबादी बिरयानी,
  • चेगोडिलु, पोलेलु, क़ुबानी का मीठा, थुंटी कूरा,
  • पोटलाकाया पुलुसु, रेल पलाराम, बचली कुर, पुंटिकुरा चना दाल

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के लेख में हमने आपको यह बताया कि तेलंगाना क्या है, और Telangana kaha ki bhasha hai. इसके अलावा हमने आपको तेलंगाना के बारे में और भी कई प्रकार की विशेष जानकारी उपलब्ध कराई है जो आपके लिए जानना जरूरी है।

हम आशा करते हैं कि आज का हमारा यह लेख पढ़कर आप समझ गए होंगे कि telangana kaha kaha boli jati hai. जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

FAQ

तेलंगाना में कितने गांव हैं?

राज्य में 74 राजस्व मंडल, 594 राजस्व मंडल और 10,909 राजस्व गांव हैं। स्थानीय निकाय: राज्य में 12,769 ग्राम पंचायतें हैं; 129 नगरपालिकाएं और 13 नगर निगम।

तेलंगाना का पहनावा क्या है?

राज्य के अधिकांश हिस्सों में पारंपरिक महिलाओं द्वारा साड़ी पहनी जाती है। लंगा वोनी, सलवार कमीज और चूड़ीदार अकेली महिलाओं में लोकप्रिय हैं। तेलंगाना में बनी कुछ प्रसिद्ध साड़ियों में पोचमपल्ली साड़ी, गडवाल साड़ी हैं।

तेलंगाना का राजकीय त्यौहार कौन सा है?

बोनालू हैदराबाद, सिकंदराबाद और तेलंगाना और भारत के कई अन्य हिस्सों में मनाया जाने वाला एक वार्षिक तेलंगाना त्योहार है।

तेलंगाना कितने साल पुराना है?

देश का सबसे पुराना राज्य बिहार है इसकी आयु 110 वर्ष है। तेलंगाना भारत का सबसे नया राज्य है। तेलंगाना का गठन महज 8 साल पहले हुआ था। असम बिहार के बाद दूसरा सबसे पुराना राज्य है।

HomepageClick Hear