दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है? (sabse bada temple)

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है? (sabse bada temple)

आज के लेख में हम जानेंगे कि दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौनसा है। पूरे भारत में मंदिरों को लेकर के  विभिन्न प्रकार की कलाकृतियां  देखी जाती है। मंदिर  प्राचीन काल से चला आ रहा पूजा करने का वह स्थान है, जहां पर लोग एकत्र होकर के पूजा करते हैं। बहुत बार तो पुराने समय में राजा महाराजा लोग अपने धन को छुपाने के लिए मंदिरों का निर्माण करवाते थे, और आज के समय भारत में लाखों मंदिर है,  जहां पर अलग-अलग भगवानों की पूजा की जाती है।

लेकिन क्या आप जानते हैं उन सब में से सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है? या कहे तो दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है? यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं। आज के लेख में हम आपको मंदिरों के बारे में ही सारी जानकारी देंगे, तो चलिए शुरू करते हैं-

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है?

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कंबोडिया में स्थित है, और कंबोडिया के अंगकोर क्षेत्र में अंकोरवाट मंदिर (कंबोडिया) मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर है, जो कि तकरीबन 16,26,000 स्क्वायर मीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। इस मंदिर का निर्माण 12 वीं शताब्दी में सूर्यवर्मन द्वितीय ने करवाया था। यह मंदिर सबसे पहले भगवान विष्णु को समर्पित था उसके बाद में इसे भगवान बुद्ध के लिए समर्पित करवा दिया गया।

हमें भारत में भी बहुत ही ऐसे कम मंदिर मिलेंगे जहां पर ब्रह्मा, विष्णु, महेश, की तीनों की एक साथ पूजा होती हों, लेकिन अंकोरवाट यह एक ऐसा मंदिर है जहां पर हमारे त्रिदेवों की एक साथ पूजा की जाती है। यह भगवान विष्णु का सबसे बड़ा मंदिर है, और पूरी दुनिया में इससे बड़ा मंदिर कहीं भी नहीं है। इनके मंदिर की दीवारों पर रामायण तथा महाभारत से जुड़े धर्म ग्रंथों की कहानियां भी लिखी गई है।

जब यह मंदिर बनाया गया था तब यह मूल रूप से भगवान शिव को समर्पित था, लेकिन बाद में यहां पर भगवान विष्णु की पूजा होने लगी थी, लेकिन जब बौद्ध धर्म के अनुयायियों ने इसे मंदिर को संभालना शुरू किया तो यहां पर बौद्ध धर्म के देवता, जिनका नाम अवलोकितेश्वर है, उनकी पूजा होने लगी। और आज भी यहां पर बौद्ध धर्म के देवताओं की पूजा होती है। लेकिन आज के समय यहाँ पर मूल रूप से भगन विष्णु की पूजा होती है।

कम्बोडिया में चौथी शताब्दी में बौद्ध धर्म के शासकों का शासन हो गया था, और मंदिर को बाद में बौद्ध धर्म के अनुसार बदल दिया गया था। यहां पर जब 16वीं शताब्दी में खमेर साम्राज्य का आक्रमण बढ़ने लगा था, तब अंगकोर के  महान से महान मंदिरों को लगभग खंडहरों में तब्दील कर दिया गया था।

बाद में यह देखा गया कि अंगकोर का सुनहरा समय  इन्हीं खंडहरों में दबकर रह गया। इसके बाद में सदियों तक इन मंदिरों की कुशलक्षेम किसी ने नहीं पूछा।  लेकिन 19वीं शताब्दी में  इन मंदिरों के बारे में वापस से सबको पता चलना शुरू हो गया, क्योंकि इन मंदिरों को लेकर के विदेशी रिसर्चर्स ने इन मंदिरों के बारे में पूरी दुनिया को बताना शुरू किया, और आक्रांताओं के आक्रमण के कारण समाप्त हो चुके अंगकोर के शहर को फिर से लोगों ने ढूंढ निकाला। आज के समय अंकोरवाट का मंदिर पूरे विश्व में सबसे प्रसिद्ध तथा सबसे बड़ा भगवान विष्णु का मंदिर है।

दुनिया का सबसे सुंदर मंदिर कौन सा है?

दुनिया का सबसे सुंदर मंदिर स्वर्ण मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह भारत के पंजाब राज्य में स्थित है, तथा इसे हरमिंदर साहब के नाम से भी जाना जाता है। और पूरी दुनिया में ऐसे गोल्डन टेंपल के नाम से जाना जाता है।  यह मंदिर 16 शताब्दी में बना था  और ऐसा भी माना जाता है कि भगवान बुद्ध ने भी इस मंदिर में समय बिताया था आज के समय यह मंदिर गुरु ग्रंथ साहिब के प्रति समर्पित है।

दुनिया का सबसे पुराना मंदिर कौन सा है?

दुनिया का सबसे पुराना मंदिर  गोबेकली टेपे हैं।  यह मंदिर तुर्की में स्थित है, तथा ऐसा माना जाता है कि यह मंदिर 11000 साल पुराना है। अभी तो यह मंदिर खंडहर बन चुका है, लेकिन यह मानव इतिहास का सबसे पुराना मंदिर माना जाता है, और  यदि हम विश्व के सबसे पुराने हिंदू मंदिर की बात करें तो यह  625 ईसा पूर्व में बनाया गया मंदिर है, जिसका नाम मुंडेश्वरी देवी मंदिर है । मुंडेश्वरी देवी मंदिर बिहार के   कैमूर डिस्ट्रिक्ट में स्थित है। यहां पर रामनवमी शुभ रात्रि और नवरात्रि जैसे पर्व मनाए जाते हैं।

दुनिया का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है?

दुनिया का सबसे अमीर मंदिर भारत के केरला राज्य की राजधानी तिरुअनंतपुरम में स्थित है। तथा इसका नाम श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर है, कुछ समय पहले यहां पर खजाने से भरे हुए 6 द्वार खोले गए थे जहां अनगिनत सोने चांदी से बने हुए बर्तन, सिक्के, हीरे, जवाहरात मोती मिले थे। और वैज्ञानिकों ने यह पाया कि सभी स्वर्ण आभूषणों की कीमत तथा हीरे मोतियों की कीमत एक ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा की है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने जाना कि दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है। आज के लेख में हमने मंदिर से जुड़े हुए कुछ अन्य तथ्यों के बारे में भी जाना। हम आशा करते हैं कि आपके लिए फायदेमंद रहा होगा।  यदि आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ। सकते हैं धन्यवाद

1 thought on “दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है? (sabse bada temple)”

  1. Thanks for ones marvelous posting! I really enjoyed reading it, you might be a great author.

    I will be sure to bookmark your blog and will eventually come back from now on. I
    want to encourage yourself to continue your great job,
    have a nice morning!

    Reply

Leave a comment