हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौनसा है?

हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौनसा है?

नमस्कार दोस्तों, हिमाचल राज्य का नाम भारत के खूबसूरत राज्यों की सूची में आता है, यहां की हरियाली तथा यहां पर पाए जाने वाले पर्वत सभी के मन को मोहित कर लेते हैं। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौनसा है,(himachal pradesh ka rajkiya vriksh kaun sa hai)यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि हिमाचल का राज्य पक्षी कौन सा है, (himachal pradesh ka rajkiya vriksh kaun sa hai) इसके अलावा इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी हम आपको इस पोस्ट में देने वाले हैं। तो ऐसे में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है तो इसको आज तक जरूर से पढ़िए।

हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौनसा है? | himachal pradesh ka rajkiya vriksh kaun sa hai

दोस्तों काफी कंपटीशन एग्जाम के अंतर्गत यह सवाल पूछा जाता है कि हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौन सा है, तथा बहुत से लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। यदि आपको इस के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष “देवदार” है।

दोस्तों देवदार वृक्ष मुख्य रूप से बर्फीले क्षेत्रों के अंतर्गत पाया जाता है, और इसका औषधियों के निर्माण के लिए काफी उपयोग किया जाता है। जैसा कि दोस्तों आपको पता होगा कि हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत हिमालय पर्वत के काफी पर्वत मौजूद है जो बर्फीले होते हैं, तथा इन्हीं के बर्फीले पर्वतों के अंदर यह वृक्ष पाया जाता है, तथा इसे हिमाचल प्रदेश के राज्य वृक्ष की संज्ञा दी गई है।

देवदार वृक्ष का अलग-अलग प्रकार की बीमारियों का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है, तथा यह अनेक बीमारियों के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है।

हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा कौन सा पेड़ पाया जाता है?

हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौनसा है? | himachal pradesh ka rajkiya vriksh kaun sa hai

प्रजातियों का वितरण ऊंचाई क्षेत्र के अनुसार है। वनस्पति कम ऊंचाई पर सूखे झाड़ीदार जंगलों से लेकर उच्च ऊंचाई पर अल्पाइन चरागाहों तक भिन्न होती है। इन दो चरम सीमाओं के बीच मिश्रित पर्णपाती वन, बांस, देवदार, ओक, देवदार, कैल, देवदार और स्प्रूस के अलग-अलग वनस्पति क्षेत्र हैं।

भारत में सबसे कम पेड़ कहाँ है?

मिजोरम में। यह जानकारी पर्यावरण मंत्रालय ने सोमवार को इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट (आईएसएफआर) 2017 जारी करते हुए दी। इस रिपोर्ट में सामने आया कि देश में कुल वन और वृक्ष क्षेत्र बढ़कर 8,02,088 वर्ग किलोमीटर हो गया है।

हिमाचल प्रदेश से जुड़ी कुछ खास बातें:-

हमने यहां पर आपके लिए हिमाचल प्रदेश से जुड़ी कुछ खास बातें शेयर की है :-

  1. हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत लगभग 33 वन्यजीव अभयारण्य और 2 राष्ट्रीय उद्यान है, जिनमें से एक अभयारण्य को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित किया गया है। इसी हरियाली के चलते हिमाचल प्रदेश को पूरी दुनिया भर में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

 

  1. हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत एक ऐसा क्षेत्र की है जिसे भारत के अंतर्गत मेनी इसराइल कहा जाता है। क्षेत्र के अंतर्गत देसी पर्यटकों की तुलना में काफी ज्यादा मात्रा में विदेशी पर्यटक आते हैं, तथा यहां पर अधिकांश इजरायली पर्यटक आते हैं।

 

  1. दोस्तों हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत एक ऐसा गांव भी मौजूद है जिसको विलेज ऑफ टैबू के नाम से जाना जाता है। इस गांव के बारे में खास बात यह है, कि यहां पर भारी लोगों के लिए अलग से काफी कठोर नियम बनाए गए हैं।

 

तो दोस्तों हमने आपके लिए यहां पर हिमाचल प्रदेश से जुड़ी कुछ खास बातें शेयर की है।

आज आपने क्या सीखा

तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना की हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष कौन सा है,(himachal pradesh ka rajkiya vriksh kaun sa hai) अन्य आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको हिमाचल प्रदेश के राज्य वृक्ष जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां भी शेयर की है, किस का राज्य वृक्ष कौनसा है यह कहां पर पाया जाता है, तथा यह किस तरह का वृक्ष होता है।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई है तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई तो, इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा नीचे कमेंट में इस विषय के बारे में हमें अपनी राय जरूर दें।

FAQ

हिमाचल प्रदेश के राज्य वृक्ष का नाम क्या है?

देवदार, हिमाचल प्रदेश का ‘राज्य वृक्ष’, क्षितिज के समानांतर टहनियों के समूह, गहरे हरे और छोटे सुई जैसी पत्तियों से आसानी से पहचाना जा सकता है।

हमारा राज्य वृक्ष क्या है?

भारतीय अंजीर का पेड़, फिकस बेंगालेंसिस, जिसकी शाखाएं एक बड़े क्षेत्र में नए पेड़ों की तरह जड़ लेती हैं। जड़ें फिर अधिक चड्डी और शाखाओं को जन्म देती हैं। इस विशेषता और इसकी लंबी उम्र के कारण, इस पेड़ को अमर माना जाता है और यह भारत के मिथकों और किंवदंतियों का एक अभिन्न अंग है।

वृक्षों का राजा कौन है?

पीपल को वृक्षों का राजा कहते हैं।

Leave a comment