प्लाज्मिड क्या होते है?, प्रकार और विशेषताएं

प्लाज्मिड क्या होते है?, प्रकार और विशेषताएं

नमस्कार दोस्तों, यदि आप विज्ञान या जीव विज्ञान के विद्यार्थी हैं तो आपने प्लाज्मिड के बारे में तो जरूर सुना होगा, दोस्तों क्या आप जानते हैं कि यह प्लाज्मिड क्या होते है, इन की क्या-क्या विशेषताएं होती है। यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से यह सभी जानकारी देने वाले हैं।

आज की इस पोस्ट के अंतर्गत हम आपको बताने वाले हैं कि प्लाज्मिड क्या होते है, और इसकी विशेषताओं के बारे में भी हम आपको इस पोस्ट में जानकारी देने वाले हैं। तो ऐसे में आती है पोस्ट काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, तो इसको अंत तक जरूर पढ़िए।

प्लाज्मिड क्या होते है?

दोस्तों प्लाज्मिड जीवाणु कोशिकाओं के ऊपर प्राकृतिक रूप से पाए जाते हैं, यह एक डीएनए अणु होता है, जो कंद्रकभ के बाहर स्थित होता है। प्लाज्मिड एक प्रकार का दौहरे स्टेट वाला डीएनए अनु होता है। प्लाज्मिड के अंतर्गत कुछ जिन पाए जाते हैं, जो लैंगिक जनन से संबंधित होते हैं।

प्लाज्मिड के प्रकार

प्लाज्मिड के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं:-

प्लाज्मिड के प्रकार

1. एकल प्रतिलिपि प्लाज्मिड:- इस प्रकार के प्लाज्मिड केवल एक ही प्रकार की प्रतिलिपि बनाते हैं, जिनको एकल प्रतिलिपि प्लाज्मिड कहा जाता है।

2. बहु प्रतिलिपि प्लाज्मिड:- इस प्रकार के प्लाज्मिड प्रकृति करके एक से अधिक प्रकार की प्रतिक्रिया बनाते हैं, जिनको बहु प्रतिलिपि प्लाज्मिड कहा जाता है। इस प्रकार के प्लाज्मिड अधिकांश तौर पर जीवाणु कोशिकाओं में परिणाम स्वरूप 10 से 12 पाए जाते हैं इसके अलावा कभी-कभी इनकी संख्या 1000 या फिर 1000 से अधिक भी हो सकती है।

तो हमें उम्मीद है कि आप को अच्छी तरह से समझ आ गया होगा कि प्लाज्मिड क्या है, तो अब नीचे प्लाज्मिड की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

Also read: राजस्थान में सबसे ज्यादा संख्या किस जाति की है?

प्लाज्मिड के कुछ विशेषताएं

प्लाज्मिड की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं निम्न प्रकार से है :-

  1. प्लाज्मिड जीवाणु कोशिकाओं के अंतर्गत गुणसूत्र के अतिरिक्त पाए जाते हैं।
  2. प्लाज्मिड वृताकार आकृति के एक अणु होते हैं। इसके अलावा प्लाज्मिड हमें सर्किल आकार तथा की आकार के भी देखने को मिलते हैं।
  3. यह प्लाज्मिड अपनी पुनरावृति करने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होते हैं यानी की प्लाज्मिड अपनी पुनरावृति करते हैं।
  4. प्लाज्मिड जीवाणु कोशिकाओं की वर्दी व उसके जीवित रहने के लिए आवश्यक नहीं है।
  5. इन प्लाज्मिड के अंतर्गत विशिष्ट प्रतिबंधक स्थल होते हैं, जहां पर वांछित जीन का निवेश करवाया जा सकता है।
  6. इसके अलावा इन प्लाज्मिड के अंतर्गत चिन्हित स्थल भी देखने को मिलते हैं।
  7. प्लाज्मिड के अंतर्गत हमें 3 दिन से लेकर 1000 दिन तक देखने को मिल सकते हैं।

Also read: English ke janak kaun hai

आज आपने क्या सीखा

तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना कि प्लाज्मिड क्या होते है। हमने आपको इस पोस्ट के अंदर प्लाज्मिड के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट में प्लाज्मिड की कुछ विशेषताओ के बारे में बताया है।

हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से प्लाज्मिड से जुड़ी सभी जानकारियां देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें तथा अपनी राय हमे कमेंट में जरूर दे।

Leave a comment