राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है?

राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है?

नमस्कार दोस्तों, जब भी राजस्थान की जातियों की बात आती है तो इसमें मीणा जाति का नाम काफी लिया जाता है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है, यदि आपको इस विषय के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको उसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले है।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है, इसके अलावा हम आपको इस विषय से जुड़ी हर एक जानकारी इस पोस्ट में देने वाले हैं। तो ऐसे में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, तो इसको अंत तक जरूर से पढ़िए।

राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है?

अगर दोस्तों राजस्थान के अंतर्गत मीणा जाति की जनसंख्या की बात की जाए तो यहां की जनसंख्या लगभग “43.46 लाख” है। यह राजस्थान की कुल आबादी का लगभग 47% है। दोस्तों हमने यहां पर यह आंकड़ा आपको सन 2011 की जनगणना के अनुसार बताया है, इसके बाद इस डाटा के अंतर्गत बदलाव भी हो सकता है। राजस्थान के कई कंपटीशन एग्जाम के अंतर्गत किस विषय के बारे में सवाल पूछे जाते हैं, कि राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है। इस पोस्ट के माध्यम से अपने आप को इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है।

राजस्थान की मीणा जाति से जुड़ी कुछ खास बातें

  1. दोस्तों इस मीणा शब्द की उत्पत्ति मीन शब्द से हुई है।

 

  1. अगर दोस्तों मीन शब्द के साथ दिक्कत की बात की जाए तो उसका अर्थ मछली होता है।

 

  1. मीणा जनजाति राजस्थान की सबसे बड़ी जनजाति है, अगर राजस्थान में इसकी कुल जनसंख्या की बात की जाए तो राजस्थान में सन 2011 की जनगणना के अनुसार मीणा जनजाति की संख्या 43.46 लाख है, यह राजस्थान की जनसंख्या का कुल 47% होता है, तो ऐसे में हम कह सकते हैं, कि यह राजस्थान की सबसे बड़ी जाति है या जनजाति है।

 

  1. इस मीणा जनजाति को कुल अलग-अलग 24 विभागों के अंतर्गत विभाजित किया गया है, इसके अलावा मीणा जाति के अगर प्रमुख आराध्य की बात की जाए, तो इसकी सूची में गौतम ऋषि का नाम सबसे पहले आता है।

 

तो यहां पर हमने आपको मीणा जाति से जुड़ी कुछ खास बातें शेयर की है जो आपके लिए जान भी काफी महत्वपूर्ण थी।

Also read:

आज आपने क्या सीखा

आज किस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना की राजस्थान में मीणा जाति की जनसंख्या कितनी है, हमने आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से राजस्थान की मीणा जाति से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां भी शेयर की है।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई है तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई तो, इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा नीचे कमेंट में इस विषय के बारे में हमें अपनी राय जरूर दें।

FAQ

क्या मीणा अनुसूचित जाति है?

द. राजस्थान की मीना जाति को राजपूत माना जाता है और उसी राज्य में अनुसूचित जनजाति के रूप में भी माना जाता है और अन्य जगहों पर इसे सामान्य श्रेणी में रखा जाता है। पिछड़ी जातियों, जनजातियों और अनुसूचित जातियों के संबंध में ऐसी कई विसंगतियां हैं।

मीणा को आरक्षण कैसे मिला

एक साधारण लिपिकीय त्रुटि के कारण ही मीणाओं को एसटी का दर्जा मिला और अब उन्होंने राजस्थान में सभी एसटी आरक्षण को रोक दिया है। मीणा की आर्थिक स्थिति दक्षिण भारत के रेड्डी के समान है, और आदर्श रूप से आदिवासी माने जाने का कोई औचित्य नहीं है। एक साधारण अल्पविराम किसी समुदाय की संपूर्ण प्रोफ़ाइल को बदल देता है!

मीणा जनजाति की कुलदेवी कौन है?

मीना समाज के ‘कुलदेवी’ कौन हैं? सांसद मीना समाज गोत्र- बैफलावत, कुलदेवी :- पालिमाता पीठ नंगल (लालसोत) दौसा। कुलदेवी : पापलज भी माता लालसोत को मानते हैं.