गेटवे ऑफ इंडिया कहां स्थित है? | Gate of india kahan sthit hai

गेटवे ऑफ इंडिया कहां स्थित है? | Gate of india kahan sthit hai

नमस्कार दोस्तों, आपने अक्सर गेटवे ऑफ इंडिया के बारे में तो जरूर सुना होगा, इसका नाम भारत के सबसे प्रमुख पर्यटक स्थलों की सूची में आता है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि गेटवे ऑफ इंडिया कहां पर स्थित है, यदि आपको इसके बारे में कोई भी जानकारी नहीं है तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल के अंतर्गत हम आपको बताने वाले हैं कि गेटवे ऑफ इंडिया कहां स्थित है, इसके अलावा हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक  जानकारी इस आर्टिकल में शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का ही यह आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है तो इसको अंत तक जरूर पढ़िए।

गेटवे ऑफ इंडिया कहां स्थित है?

दोस्तों गेटवे ऑफ इंडिया भारत के सबसे बड़े महानगर “मुंबई” के अंतर्गत स्थित है, इसका नाम मुंबई तथा भारत के सबसे प्रमुख पर्यटक स्थलों की सूची में आता है, तथा अनेक लोग इसे देखने के लिए जाते हैं। गेटवे ऑफ़ इंडिया मुंबई के अंदर स्थित एक स्मारक है, जो मुंबई के साथ-साथ पूरे भारत में काफी लोकप्रिय है।

गेटवे ऑफ इंडिया क्या है?

अगर दोस्तों आप यह जानना चाहते हैं कि गेटवे ऑफ इंडिया क्या है तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि गेटवे ऑफ इंडिया भारत के सबसे बड़े महानगर मुंबई के अंतर्गत स्थित एक स्मारक है जिसे ब्रिटिश शासन काल में बनाया गया था। इस गेटवे ऑफ इंडिया का नाम मुंबई शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल की सूची में आता है तथा जो भी पर्यटक मुंबई घूमने के लिए जाता है, वह इस पर्यटक स्थल को जरूर देखने जाता है।

Gateway of India | gateway of india kahan per sthit hai

इसका निर्माण कार्य सन 1914 में शुरू किया गया था, तथा 1919 में यह बनकर तैयार हो गया था, तथा इसके निर्माण कार्य में लगभग 21 लाख का खर्चा आया था, जो भारत सरकार के द्वारा दिया गया था।

गेटवे ऑफ इंडिया का इतिहास

अगर दोस्तों गेटवे ऑफ इंडिया के इतिहास की बात की जाए, तो इसका निर्माण ब्रिटिश शासन काल में करवाया गया था। गेटवे ऑफ इंडिया के निर्माण की योजना को साल 1911 में बनाया गया था, उसके बाद गेटवे ऑफ इंडिया को बनाने की इजाजत मिलने के बाद सन 1911 में ही अंग्रेजी अधिकारी सर्व जॉर्ज शेडिंग कार्मिक मुंबई गवर्नर की निगरानी में इसका निर्माण कार्य शुरू किया गया था।

हालांकि बाद में इसका पूरी तरीके से सन 1914 में निर्माण कार्य शुरू किया गया था, इसके बाद सन् 1919 में यह बनकर तैयार हो गया था, तो इसके निर्माण के अंतर्गत कुल 4 सालों का समय लगा था। उस समय इसको बनाने के लिए लगभग 21 लाख रुपए की लागत आई थी।

Also read:

आज आपने क्या सीखा

तो दोस्तों आज भी इस आर्टिकल के माध्यम से आप भी जाना की गेटवे ऑफ इंडिया कहां पर स्थित है, इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत गेटवे ऑफ इंडिया से जुड़ी लगभग हर एक एक जानकारी शेयर की है।

हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत इस विषय से जुड़ी सभी जानकारियों को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह सभी जानकारियां पसंद आई है, तथा आपको आज इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई है सभी जानकारी पसंद आए तो इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें तथा इस विषय के बारे में आप अपनी राय हमें कमेंट में देकर पहुंचा सकते हैं।

FAQ

गेट ऑफ इंडिया कौन बनाया था?

गेटवे ऑफ इंडिया का निर्माण 1911 में शुरू हुआ था जब इंग्लैंड के किंग जॉर्ज पंचम और उनकी पत्नी क्वीन मैरी ने भारत का दौरा किया था। इसे वास्तुकार जॉर्ज विटेट ने मुंबई बंदरगाह पर एक स्मृति चिन्ह के रूप में बनाया था।

गेटवे ऑफ इंडिया की ऊंचाई कितनी है?

गेटवे ऑफ इंडिया भारत में एक ऐतिहासिक स्मारक है जो मुंबई में होटल ताजमहल के ठीक सामने स्थित है। यह स्मारक दक्षिण मुंबई के अपोलो बंदर इलाके में अरब सागर के बंदरगाह पर स्थित है। यह एक बड़ा गेट है जिसकी ऊंचाई 26 मीटर (85 फीट) है।

मुंबई में कौन सा गेट है?

गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई का एक बहुत ही प्रसिद्ध स्थान है। यह अपोलो बंदर के पास स्थित है। इसे जॉर्ज विटेट ने डिजाइन किया था। इस प्रवेश द्वार के पास पर्यटकों के लिए समुद्र की सैर करने के लिए फेरी सेवा भी उपलब्ध है।

मुंबई के समुद्र का क्या नाम है?

मुंबई भारत के पश्चिमी तट पर स्थित है और शानदार अरब सागर से घिरा हुआ है।

Leave a comment