नवीकरणीय तथा नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत क्या होते हैं?

नमस्कार दोस्तों, जैसा कि दोस्तों आप सभी लोग जानते हैं, कि इस पृथ्वी पर हमें जिंदा रहने के लिए या फिर अपनी दिनचर्या को सही तरीके से जीने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है, तथा हमें ऊर्जा के अलग-अलग स्रोतों से उर्जा की प्राप्ति होती है। दोस्तों क्या आप जानते हैं, कि नवीकरणीय और अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत क्या होते हैं तथा इन दोनों के बीच क्या अंतर होता है। यदि आपको इस सवाल का जवाब मालूम नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि नवीकरणीय और अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत क्या होते हैं, तथा इन दोनों के बीच क्या अंतर होता है। और इस विषय से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी अभी हम आपको इस पोस्ट में देने वाले हैं।

नवीकरणीय तथा नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत क्या होते हैं?

जैसा कि दोस्तों आप सभी लोग जानते हैं कि हमें ऊर्जा अलग-अलग प्रकार के स्रोतों से प्राप्त होती है तथा ऊर्जा के स्रोतों को मुख्य रूप से दो भागों के अंतर्गत वर्गीकृत किया गया है।

  1. अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत
  2. नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत
navikarniya urja ka strot kya hai

अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत

अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत उन ऊर्जा स्रोतों को कहा जाता है, जो इस प्रकृति के अंतर्गत काफी पुराने समय से मौजूद है, या फिर प्राचीन समय से काफी लंबी अवधि से इस पृथ्वी पर मौजूद है, तथा उनसे हमें ऊर्जा प्राप्त होती है।

आज के समय बहुत अधिक मात्रा के अंतर्गत इन ऊर्जा स्रोतों से ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाता है मुख्य रूप से इन के अंतर्गत कोयला, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस आदि का नाम आता है।

अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों को बनने में करोड़ों वर्ष का समय लगता है, तथा आज के समय में पृथ्वी पर मुख्य रूप से इन्हीं ऊर्जा के स्रोतों से ऊर्जा प्राप्त की जाती है। इन ऊर्जा स्रोतों का एक बार इस्तेमाल करने के बाद यह नष्ट हो जाते हैं।

नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत

नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत उन ऊर्जा के स्रोतों को कहा जाता है, जो प्रकृति के अंतर्गत निरंतर उत्पन्न होते रहते हैं, या फिर लगातार उत्पन्न होते रहते हैं, तथा यह कभी भी खत्म नहीं होते हैं, और इन ऊर्जा स्रोतों का इस्तेमाल बार-बार किया जा सकता है।

इनके अंतर्गत मुख्य रूप से सौर ऊर्जा, जल ऊर्जा, पवन ऊर्जा, समुद्री ऊर्जा, आदि का नाम शामिल होता है।

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं, कि सूर्य से काफी मात्रा के अंतर्गत ऊर्जा प्राप्त की जाती है, तथा इस ऊर्जा का कोई भी अंत नहीं होता है, हम कितनी भी ऊर्जा सूर्य से प्राप्त कर सकते हैं, इसके अलावा पवन, जल आदि अनंत मात्रा में ऊर्जा प्राप्त कर सकते हैं तथा इनका कोई भी अंत नहीं होता है।

ऊर्जा के नवीकरणीय तथा अनवीकरणीय स्रोत में अंतर

ऊर्जा के नवीकरणीय तथा अनवीकरणीय स्रोत के अंतर्गत निम्न अलग-अलग प्रकार के अंतर होते हैं :-

1. ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोतों को बनने के लिए करोड़ों वर्ष का समय लगता है तथा करोड़ों वर्ष से इनका निर्माण होता है, जबकि नवीकरणीय स्रोत लगातार बनते रहते हैं तथा इनका कोई भी अंत नहीं होता है।

2. ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत का इस्तेमाल सिर्फ एक बार ही किया जा सकता है, तथा उसके बाद यह अनवीकरणीय स्रोत नष्ट हो जाते हैं जबकि ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों का इस्तेमाल कितनी भी वार किया जा सकता है इनका कोई भी अंत नहीं होता है, आप इनका अनंत बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत का इस्तेमाल करने से हमें पर्यावरण को काफी नुकसान होता है, जब भी हम ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोतों का इस्तेमाल करते हैं, तो कार्बन डाइऑक्साइड जैसी कई जहरीली गैस से उत्पन्न होती हैं, जो हमारे पर्यावरण के लिए काफी खतरनाक होती है। इसके विपरीत ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों से पर्यावरण को कोई भी नुकसान नहीं होता है या फिर बहुत ही कम नुकसान होता है, तो ऐसे में हमें अधिक से अधिक तौर पर ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि यह हमारे पर्यावरण के लिए काफी अच्छे होते हैं।

तो दोस्तों हमें ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत तथा नवीकरणीय स्रोत के अंतर्गत यह अलग-अलग प्रकार के अंतर देखने को मिलते हैं।

निष्कर्ष

तो दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना कि ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत तथा नवीकरणीय स्रोत क्या होते हैं, ऊर्जा के इन दोनों स्रोतों के बीच क्या-क्या अंतर होता है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारी द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तो आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है।

नवीकरणीय संसाधन कौन सा है?

नवीकरणीय संसाधनों में सौर ऊर्जा, हवा, गिरता पानी, पृथ्वी की गर्मी (भूतापीय), पौधों की सामग्री (बायोमास), लहरें, समुद्र की धाराएं, महासागरों में तापमान अंतर और ज्वारीय ऊर्जा शामिल हैं।

नवीनीकरण ऊर्जा का स्रोत कौन सा नहीं है?

प्राकृतिक गैस ऊर्जा नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत नहीं है।

भारत में ऊर्जा का मुख्य स्रोत क्या है?

कच्चे तेल की कुल प्राथमिक ऊर्जा खपत का 29.45%, प्राकृतिक गैस (7.7%), कोयला (54.5%), परमाणु ऊर्जा (1.26%), जल विद्युत (5.0%) और शेष पवन ऊर्जा, बायोमास ऊर्जा और सौर ऊर्जा से है। .

HomepageClick Hear