प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे?

प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे?

नमस्कार दोस्तो, आपने अपने जीवन के अंतर्गत अक्सर राज्य सभा आयोग के बारे में तो जरूर सुना हुआ होगा, या फिर कहीं ना कहीं तो इसके बारे में जरूर पढ़ा होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे (rajya sabha ka adhyaksh kaun hai), यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे, हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे? | pratham rajyasabha ka adhyaksh kaun hota hai

दोस्तों अक्सर कई अलग-अलग competition exam की परीक्षाओं के अंतर्गत यह सवाल पूछा जाता है, कि प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे (pratham rajya sabha adhyaksh), और बहुत से लोगों को इस सवाल के बारे में जानकारी नहीं होती है, यदि दोस्तों आपको भी इसके बारे में जानकारी नहीं है तथा अब इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि, प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष का नाम “श्री ओम मेही” थे।

राज्य सभा आयोग का अध्यक्ष कौन होता है? | rajyasabha adhyaksh kaun hai

pratham rajya sabha ke adhyaksh kaun the 
rajya sabha ke pratham adhyaksh

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं, कि राज्यसभा का ही महत्वपूर्ण होती है। यदि आपको पता नहीं है कि राज्य सभा आयोग का अध्यक्ष कौन होता है तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि राज्य सभा आयोग का अध्यक्ष हमारे देश का राष्ट्रपति होता है।

वर्तमान में राज्यसभा आयोग के अध्यक्ष कौन है?

जैसा कि हमने आपको बताया कि राज्य सभा आयोग का अध्यक्ष राष्ट्रपति होता है, तो आज के समय हमारे देश के राष्ट्रपति वेनके नायडू जी राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष है।

वर्तमान समय में राज्यसभा में कितने सदस्य हैं?

अगर दोस्तों बात की जाए कि वर्तमान समय में राज्यसभा में कितने सदस्य हैं तो अभी आज के समय में राज्यसभा के अंतर्गत कुल 245 सदस्य हैं। इन के अंतर्गत 233 सदस्य विधान सभा के सदस्यों के द्वारा चुने जाते हैं, जबकि बचे हुए 12 सदस्य राष्ट्रपति के द्वारा उनकी, कला, साहित्य, ज्ञान और उनके अलग-अलग सेवाओं को देखकर चुने जाते हैं।

Also read:

आज आपने क्या सीखा

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे (rajyasabha ka adhyaksh kaun hai), हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत के विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। इसके अलावा हमने आपके साथ इस पोस्ट के अंतर्गत राज्यसभा से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर की है, जैसे कि राज्यसभा का अध्यक्ष कौन होता है, प्रथम राज्य सभा आयोग के अध्यक्ष कौन थे, तथा राज्यसभा के अंतर्गत कितने सदस्य होते हैं।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा इस विषय के बारे में अपनी राय हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

राज्यसभा की पहली महिला अध्यक्ष कौन थी?

भारत की पहली महिला राज्यसभा उपाध्यक्ष वायलेट अल्वा थीं। उन्होंने 19 अप्रैल 1962 को इस पद पर अपना कार्यभार संभाला, जिसके बाद उन्होंने इस पद पर 7 साल तक सेवा की और 16 नवंबर 1969 को अपने पद से सेवानिवृत्त हुईं।

विश्व की पहली प्रधानमंत्री कौन थी?

श्रीलंका की सिरिमाओ भंडार नाइक दुनिया की पहली महिला प्रधान मंत्री थीं। विश्व की प्रथम महिला प्रधानमंत्री कौन थी?

राज्य सभा के अध्यक्ष कौन है?

भारत का उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति होता है। राज्य सभा के सदस्यों के विपरीत, राज्य सभा के सभापति का कार्यकाल केवल 5 वर्ष का होता है, राज्य सभा भी अपने सदस्यों में से एक उपसभापति का चयन करती है।

6 वर्ष का कार्यकाल कितना होता है?

राज्यसभा एक स्थायी निकाय है और इसे भंग नहीं किया जा सकता है। हालाँकि, इसके एक तिहाई सदस्य हर दूसरे वर्ष सेवानिवृत्त होते हैं और उनकी जगह नवनिर्वाचित सदस्य ले लेते हैं। प्रत्येक सदस्य छह साल की अवधि के लिए चुना जाता है। भारत का उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति होता है।