दिल्ली की राजधानी क्या है? | Delhi Ki Rajdhani Kya Hai

दिल्ली की राजधानी क्या है? | Delhi Ki Rajdhani Kya Hai

नमस्कार दोस्तों, दिल्ली भारत की राजधानी होने के साथ-साथ एक केंद्र शासित प्रदेश भी है, जिसकी खुद की एक सरकार होती है दिल्ली के अंतर्गत उसका मुख्यमंत्री होता है, जिसके द्वारा इसका संचालन किया जाता है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि दिल्ली की राजधानी क्या है, यदि आपको इसके बारे में कोई भी जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि दिल्ली की राजधानी क्या है, इसके अलावा हम आपको दिल्ली की राजधानी से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत देने वाले हैं। तो ऐसे में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है तो उसको अंत तक जरूर पढ़िए।

दिल्ली की राजधानी क्या है? | What is the capital of Delhi?

दोस्तों इस बात से तो सब अवगत है कि दिल्ली भारत देश की राजधानी है। लेकिन इस बात के बारे में जानकारी बहुत ही कम लोगों को है कि दिल्ली की राजधानी क्या है। तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि अनेक लोगों का यह मानना है, कि दिल्ली की राजधानी नई दिल्ली है, लेकिन दोस्तों यह बात पूरी तरह से सच नहीं है। आधिकारिक तौर पर दिल्ली की कोई भी राजधानी नहीं है, दिल्ली एक केंद्र शासित प्रदेश है जो कि भारत देश की राजधानी जरूर है।

राजधानी दिल्ली का नामकरण (Name of Capital Delhi)

भारतीय इतिहास के किसी भी पाठ में इस बात का उल्लेख नहीं है कि इस शहर का नाम दिल्ली कैसे पड़ा, जिसने सबसे पहले दिल्ली शब्द का इस्तेमाल किया।

कुछ लोग मानते हैं। यह देहली शब्द का एक रूपांतर है, जिसका हिंदुस्तानी में अर्थ है दहलीज या द्वार।

इस नाम के पीछे यह माना जाता है कि गंगा यमुना के मैदान के मुहाने पर स्थित होने के कारण इस शहर को इस नाम से संबोधित किया गया होगा।

एक अन्य मान्यता के अनुसार ऐसा माना जाता है कि यहां ढिल्लू नाम का एक शासक हुआ करता था। उन्होंने अपनी राजधानी का नाम ढिलिका/ढिली रखा, जो बाद में दिल्ली बन गई।

दिल्ली भारत की राजधानी कब बनी? | When did Delhi become the capital of India?

दिल्ली की राजधानी क्या है | Delhi Ki Rajdhani Kya Hai

भारत की वर्तमान राजधानी दिल्ली है। इतिहास गवाह है कि नई दिल्ली भारत में एक ऐसी जगह है जिसे लोग हमेशा से हथियाने की कोशिश करते रहे हैं, बात चाहे मुगल शासकों की हो या अंग्रेजों की, सभी ने दिल्ली को अपना कार्यक्षेत्र बना लिया है।

लेकिन जब अंग्रेजों ने दिल्ली में काम करना शुरू किया, तो दिल्ली में बहुत गर्मी थी, इसलिए उन्होंने अपनी राजधानी को कोलकाता में बदल दिया।

फिर बाद में दिल्ली को वापस भारत की राजधानी बना दिया गया। 1911 में वापस, दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने की घोषणा की गई। लेकिन लॉर्ड इरविन की मौजूदगी में 13 फरवरी 1931 को दिल्ली को भारत की राजधानी बनाया गया।

Also read: कोलकाता की राजधानी और पुराना नाम क्या था?

दिल्ली का पुराना नाम क्या था? | What was the old name of Delhi?

प्राचीन काल में दिल्ली को इंद्रप्रस्थ के नाम से जाना जाता था। इसका प्रमाण हमारे दिव्य महाकाव्य महाभारत में मिलता है। महाभारत के समय पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ थी।

प्राचीन काल में यह माना जाता था कि इस शहर में इंद्रदेव निवास करते हैं, इसलिए इस शहर को इंद्र देव की भूमि या बल्कि इंद्रप्रस्थ कहा जाता है।

दिल्ली की कुल जनसंख्या एवं क्षेत्रफल | Total population and area of Delhi

दिल्ली की कुल जनसंख्या एवं क्षेत्रफल

अगर हम दिल्ली की कुल जनसंख्या की बात करें तो यह उसके क्षेत्रफल के अनुपात में बहुत अधिक है। वर्तमान में दिल्ली की जनसंख्या लगभग 1,67,53,235 है। जो इतने छोटे क्षेत्र में रहता है, इसलिए दिल्ली में जनसंख्या घनत्व बहुत अधिक है।

दिल्ली का कुल क्षेत्रफल केवल 1,483 वर्ग किमी है। दिल्ली अपनी विशाल जनसंख्या की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। समुद्र तल से इसकी कुल ऊंचाई 216 मीटर है। आपको यह भी बता दें कि यमुना नदी दिल्ली के पूर्व की ओर बहती है।

Also read: भारत में कुल कितने राज्य हैं, और उनकी राजधानी ,भाषाएं

दिल्ली में कितने जिले है? | How many districts are there in Delhi?

2022 में दिल्ली में कुल 11 जिले हैं।
क्रम संख्या जिला (District) मुख्यालय(Headquarters) का स्थान
1 पूर्वी दिल्ली(East Delhi) शास्त्री नगर (Shastri Nagar)
2 मध्य दिल्ली (Central Delhi) दरियागंज (Daryaganj)
3 नई दिल्ली (New Delhi) जामनगर (Jamnagar)
4 पश्चिम दिल्ली (West Delhi) शिवाजी प्लेस (Shivaji Place)
5 उत्तरी दिल्ली (North Delhi) अलीपुर (Alipur)
6 उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) नंद नगरी (Nand Nagri)
7 दक्षिण पूर्व दिल्ली (South East Delhi) लाजपत नगर (Lajpat Nagar)
8 उत्तर पश्चिम दिल्ली (North West Delhi) कंझावाला (Kanjhawala)
9 दक्षिण पश्चिम दिल्ली (South West Delhi) कापसहेड़ा (Kapashera)
10 शाहदरा (Shahdara) नंद नगरी (Nand Nagri)
11 दक्षिण दिल्ली (South Delhi) साकेत (Saket)

दिल्ली से जुड़ी कुछ खास बातें | Some special things related to Delhi

तो चलिए दोस्तों इस पोस्ट के अंतर्गत अब हम दिल्ली से जुड़ी कुछ खास बातें जान लेते हैं

  1. दिल्ली भारत की राजधानी होने के साथ-साथ भारत का यह काफी बड़ा पर्यटक स्थल भी है। लाखो टूरिस्ट यहां पर घूमने आते हैं। यदि दिल्ली के प्रमुख पर्यटक स्थलों की बात की जाए तो इसकी सूची में लाल किला, कुतुब मीनार, पुराना किला फिरोज़ शाह कोटला, लोधी पारक, जमा मस्जिद, गौरीशंकर मंदिर, बिरला मंदिर, शीशगंज गुरुद्वारा, निजामुद्दीन औलिया की दरगाह, हुमायूं का मकबरा तथा राजपूत राजा द्वारा निर्मित जंतर-मंतर आदि का नाम आता है।
  1. दिल्ली के अंतर्गत विश्व प्रसिद्ध पुस्तक मेला भी लगता है, जो कि काफी बड़ा होता है, और यह पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है, इस मेले का आयोजन प्रत्येक वर्ष जनवरी या फरवरी के महीने में किया जाता है, तथा इसका आयोजन प्रगति मैदान में किया जाता है। इस मेले की शुरुआत 1972 में हुई थी तथा उसके बाद प्रत्येक साजिश का आयोजन होता आ रहा है, हालांकि पिछले कुछ सालों में कोरोना के चलते इसका आयोजन नहीं हो पाया है।
  1. दोस्तों दिल्ली भारत की सबसे प्रमुख पर्यटक स्थलों के अंतर्गत आता है। 2017 के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली के अंतर्गत इस वर्ष में लगभग 2 करोड़ 90 लाख घरेलू पर्यटक तथा 27 लाख विदेशी पर्यटक दिल्ली घूमने आए थे।
  1. दिल्ली के अंतर्गत लगने वाला खड़ी बावली बाजार एशिया का सबसे बड़ा मसालों का बाजार है, यहां पर आपको हर प्रकार के मसाले देखने को मिल जाते हैं, तथा एक ही मसाले के अलग-अलग वैरायटी देखने को मिलती है।
  1. दिल्ली भारत के सबसे बड़े हरे-भरे शहरों की सूची में आता है। इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि दिल्ली का कुल क्षेत्रफल का 20% भाग हरियाली से ढका हुआ है।
  1. दिल्ली की आजादपुर मंडी के अंतर्गत लगने वाला थोक बाजार दुनिया के सबसे बड़े सब्जियों के बाजार में से एक है। अनेक लोगों का यह मानना है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा सब्जी का बाजार होता है।

तो दोस्तों यहां पर हमने आपको दिल्ली से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताया है, जो शायद आपके जीवन में कभी भी काम में आ सकती है।

Also read: हिमाचल प्रदेश की राजधानी क्या है?

आज आपने क्या सीखा

आज  के इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना की दिल्ली की राजधानी क्या है, हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से दिल्ली के राजधानी से जुड़ी संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत दिल्ली से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में भी बताया है।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह सभी जानकारी पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा अपनी राय हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

दिल्ली राज्य कब बना था?

दिल्ली के बारे में कहा जाता है कि यह कई बार नष्ट हुई और कई बार बसी। दिल्ली के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। 1 नवंबर 1956 को दिल्ली के इतिहास में एक महत्वपूर्ण अध्याय जोड़ा गया। देश की राजधानी दिल्ली को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिला।

दिल्ली का स्टेट का नाम क्या है?

देश की राजधानी दिल्ली को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिला। आजादी के बाद दिल्ली देश की राजधानी बनी।

दिल्ली के संस्थापक कौन थे?

महाराज पृथ्वीराज चौहान के दरबारी कवि चंद बरदाई की हिन्दी रचना पृथ्वीराज रासो में तोमर राजा अनंगपाल को दिल्ली का संस्थापक बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि उन्होंने ही ‘लाल-कोट’ बनवाया था और महरौली के गुप्त लौह स्तंभ को दिल्ली लाया था।

Leave a comment