राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं? | rajniti vigyan kise kahate hain

राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं? | rajniti vigyan kise kahate hain

नमस्कार दोस्तो, राजनीतिक विज्ञान शिक्षा के अंतर्गत एक काफी महत्वपूर्ण विषय होता है, जिसके बारे में लगभग हर व्यक्ति तथा विद्यार्थी को जानना काफी जरूरी होता है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि राजनीति विज्ञान क्या होता है, इसके कौन-कौन से क्षेत्र होते हैं, यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं तथा इसके कौन-कौन से क्षेत्र होते हैं, हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं? | rajniti vigyan kise kahate hain

दोस्तों यदि आपको इसके बारे में पता नहीं है कि राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि राजनीतिक विज्ञान के अंतर्गत इतिहास राज्य सरकार, केंद्र सरकार आदि के बारे में अध्ययन किया जाता है। जैसा कि दोस्तों आप सभी लोगों को इस के नाम से ही पता लग जाता है, राजनीतिक विज्ञान के अंतर्गत मुख्य रूप से राजनीति, कानून, संविधान जैसे अलग-अलग विषयों के बारे में अध्ययन किया जाता है।

राजनीतिक विज्ञान के प्रमुख क्षेत्र

दोस्तों राजनीतिक विज्ञान के प्रमुख क्षेत्र निम्न है जिनके बारे में आपको नीचे जानकारी दी गई है:-

राजनीतिक विज्ञान किसे कहते हैं? | rajniti vigyan kise kahate hain

1. राज्य सरकार का अध्ययन

दोस्तों राजनीति विज्ञान के क्षेत्र के अंतर्गत राज्य सरकार से संबंधित विषय के बारे में अध्ययन किया जाता है, कि राज्य सरकार क्या होती है यह किस तरह से कार्य करती है, इसके अंतर्गत कौन-कौन से कानून होते है, यहां की चुनावी प्रक्रिया कौन सी होती है, इसके अलावा हम इससे जुड़ी संपूर्ण जानकारी के बारे में अध्ययन करते हैं। यानी कि हम कह सकते हैं, राजनीतिक विज्ञान के अंतर्गत हम राज्य सरकार से जुड़ी हर एक छोटी सी छोटी तथा बड़ी से बड़ी जानकारी के बारे में अध्ययन करते हैं।

2. केंद्र सरकार का अध्ययन

राज्य सरकार की तरह इस क्षेत्र के अंतर्गत हम केंद्र सरकार के बारे में अध्ययन करते हैं। जिस तरह से हम राज्य सरकार की छोटी से छोटी तथा बड़ी से बड़ी चीज के बारे में राजनीति विज्ञान से अध्ययन करते हैं उसी तरह कैसे हम केंद्र सरकार की भी हर एक चीज के बारे में राजनीतिक विज्ञान के अंतर्गत अधयन हैं।

3. कानून के बारे में अध्ययन

दोस्तों राजनीति विज्ञान के क्षेत्र में हम अलग-अलग कानूनों के बारे में अध्ययन करते हैं यानी कि इस क्षेत्र में हम हर एक कानून के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं, तथा उसको समझते हैं तथा उसकी पूरी प्रक्रिया को जानते हैं।

4. सविधान के बारे में अध्ययन

इस क्षेत्र के अंतर्गत हम संविधान के बारे में सभी चीजों का अध्ययन करते हैं, कि सविधान में कौन कौन से अनुच्छेद होते हैं, तथा उन्हें अनुच्छेदों के अंतर्गत कौन-कौन से कानून शामिल होते हैं।

तो दोस्तों इसके अलावा भी अनेक राजनीति विज्ञान के क्षेत्र होते हैं, लेकिन हम ने आप पर आपको कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों के बारे में जानकारी दी है।

आज आपने क्या सीखा

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि राजनीति विज्ञान का क्या अर्थ होता है, हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत के विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। इसके अलावा हमने आपके साथ इस पोस्ट के अंतर्गत राजनीतिक विज्ञान से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर की है, जैसे कि राजनीतिक विज्ञान से क्या तात्पर्य है, राजनीति विज्ञान के कौन-कौन से क्षेत्र होते हैं, तथा इसके अंतर्गत हमें किस चीज के बारे में अध्ययन करते हैं।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा इस विषय के बारे में अपनी राय हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

राजनीति विज्ञान की परिभाषा क्या है?

राजनीति विज्ञान वह विज्ञान है जो एक राजनीतिक और सामाजिक प्राणी के रूप में मनुष्य से संबंधित राज्य और सरकारी दोनों संस्थानों का अध्ययन करता है। राजनीति विज्ञान एक व्यापक विषय या अध्ययन का क्षेत्र है।

राजनीति विज्ञान का जनक कौन है?

अरस्तु को राजनीति विज्ञान का जनक कहा जाता है। मैक्सी ने अरस्तू को पहला वैज्ञानिक विचारक कहा। ये बातें सच हैं क्योंकि अरस्तू ने राजनीति विज्ञान को न केवल एक स्वतंत्र विषय का रूप दिया है, बल्कि अपनी अध्ययन पद्धति के माध्यम से इसे वैज्ञानिक रूप भी दिया है। अरस्तू के गुरु प्लेटो थे और प्लेटो के गुरु सुकरात थे।

राजनीति विज्ञान का क्या महत्व है?

राजनीति विज्ञान मनुष्य को उसके अधिकारों और कर्तव्यों से अवगत कराता है ताकि मनुष्य समाज की सर्वश्रेष्ठ इकाई के रूप में रह सके। इसके साथ ही राजनीति विज्ञान व्यक्तियों के बीच उचित संबंध स्थापित करके संघर्ष के स्थान पर सहयोग के सिद्धांतों को स्थापित करने का प्रयास करता है।