दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा है?(sabse jahrila ped)

दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा है?(sabse jahrila ped)

दोस्तों, आज के लेख में हम जानेंगे कि दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा है।

मित्रों, पेड़-पौधे मानव जीवन का मुख्य कारण है। यदि पेड़-पौधे ना हो तो मानव को जीने के लिए जरूरी ऑक्सीजन नहीं मिलेगी, तथा जब पृथ्वी पर ऑक्सीजन ही नहीं रहेगी तो मानव का जीवन भी नहीं रहेगा।

इसी के साथ पेड़-पौधे पृथ्वी पर रहने वाले सभी जीवन को आश्रय देते हैं, खाना देते हैं, तथा जीवन जीने का रास्ता भी देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में बहुत से ऐसे पेड़ है जो आपको जीवन देते नहीं है बल्कि आपका जीवन लेते हैं।

जी हां ऐसे पेड़ जो आप की मौत का कारण बन सकते हैं, जो इतने ज्यादा जहरीले होते हैं कि उनके पास खड़े होने से भी आप को नुकसान पहुंच सकता है।

यदि आप ऐसे पेड़ों के बारे में नहीं जानते हैं तो आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि दुनिया में सबसे जहरीला और सबसे ज्यादा नुकसान पहुँचाने वाला पेड़ कौन सा है।

इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे कि दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कहां पर पाया जाता है।

आज के लेख में हम आपको बताएँगे कि, दुनिया का सबसे जाह्रीला पेड़ कौन सा है।

तो चलिए शुरू करते हैं-

दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा है?

मित्रों, पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा जहरीला पेड़ Manchineel (मंचिनील) को माना जाता है। Manchineel को सामान्य तौर पर मैनचिनेल ट्री के तौर पर जाना जाता है, जिसका साइंटिफिक नाम Hippomane Mancinella है।

Manchineel स्पर्ज परिवार से आने वाली एक फूल वाले पौधे की प्रजाति है, और यह उत्तरी अमेरिका से लेकर के दक्षिण अमेरिका तक फैली हुई है। साथ ही इसे फलने-फूलने के लिए एक उष्णकटिबंधीय वर्षावन या फिर किसी समुद्र के तट की आवश्यकता होती है।

Manchineel को मंचियोनील तथा मैनचिनीयल के नाम से भी जाना जाता है। यह नाम स्पेनिश वर्ड मैंसिनेला से आया है, जिसका मतलब ‘छोटा सेव’ होता है।

Manchineel दिखने में एक बड़ा पेड़ है जिस पर फल तथा फूल दोनों लगते हैं, और इस पर लगने वाला फल एक सेव के आकार का होता है। जो दिखने में काफी छोटा होता है।

हम यह कह सकते हैं कि एक छोटे अमरूद के आकार का हरा सेब इस पर लगता है, और इसे उगाने के लिए खारे पानी की आवश्यकता होती है। Manchineel का पेड़ दिखने में एक सेव के पेड़ जैसा होता है।

Manchineel के पेड़ को स्पेनिश में Manzanilla De La Muerte के नाम से भी जाना जाता है, जिस का हिंदी में मतलब होता है कि ‘मौत का छोटा सेव’।

यह पेड़ दुनिया के सबसे खतरनाक और सबसे जहरीले पेड़ों में से एक होता है। इसका सफेद दूधिया रस यदि आप की चमड़ी पर गिर जाए तो वह उसे जला सकता है, आपके त्वचा पर फफोले कर सकता है, और यदि इस पेड़ से पानी टकराकर आप के चमड़ी पर गिर जाए तो यह आपकी त्वचा को जला सकता है।

दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कहां पर होता है?

दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ जिसका नाम Manchineel है, यह मूल रूप से कैरीबियन इलाकों में पाया जाता है। इसी के साथ में उत्तरी अमेरिका से लेकर के दक्षिण अमेरिका तक यह पूरी तरह से फैला हुआ है, और बहामास, मैक्सिको, मध्य अमेरिका, फ्लोरिडा, इन सभी क्षेत्रों में यह पाया जाता है।

हालांकि यह एक समुद्र के तटीय इलाकों पर उगने वाला पेड़ है, और यदि कोई जंगल ऐसा है जिसका वातावरण मैंग्रोव वर्षावन जैसा है, यानी कि उस जंगल में पेड़ों के तनों के निचले हिस्से तक पानी भरा रहता है तो यह उस जगह पर भी सकता है।

यह साधारण मिट्टी में नहीं बल्कि मोटी रेत में उगने वाला पेड़ है। तथा यह पेड़ मोटी रेत में इसलिए उगता है क्योंकि इसकी जड़ें भी गहरी होती है, और रेत में गहरी जड़ों का पेड़ काफी मजबूती से खड़ा रहता है।

मशीनों से भी इस पेड़ को उखाड़ने काफी मुश्किल होता है। यह पेड़ तकरीबन 50 फीट तक लंबा हो सकता है, और इसके तने का रंग लाल बुरा होता है, और इस पर हरे और पीले रंग के फूल लगते हैं। इसके पत्ते काफी चमकीले होते हैं, तथा इसकी पत्तियां साधारण पत्तियों की तरह होती है, लेकिन इस पेड़ के पत्ते पर दांतनुमा कांटे होते हैं और इसकी पत्तियां तकरीबन 5 से लेकर के 10 इंच लंबी हो सकती है।

इस पर लगने वाला फल एक छोटे सेव जैसा होता है, जो पकने पर हरे या फिर हरे-पीले रंग का होता है। यह फल जब कच्छा होता है तब हरे रंग का होता है। यह फल बहुत ज्यादा जहरीला होता है और इसके खाने के 1-2 घंटे बाद व्यक्ति मर सकता है।

Manchineel दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ क्यों है?

Manchineel के पेड़ को पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा विषाक्त यानी कि सबसे ज्यादा जहरीला पेड़ माना जाता है। इसका मुख्य कारण यह है कि यदि इस पेड़ से निकलने वाले दूध के संपर्क में हमारी त्वचा आ जाती है तो-

  • इसका सफेद रस हमारी त्वचा जला सकता है।
  • हमारी त्वचा पर फफोले पैदा कर सकता है।
  • हमारे पूरे शरीर पर सूजन पैदा कर सकता है।
  • हमारे शरीर में जलन होने लग सकती है।
  • चक्कर आने लग सकता है।
  • नाक से खून आने लग सकता है।

यह पेड़ जहां पर भी होता है उसके नीचे यह बोर्ड लगा हुआ होता है कि बरसात के दिनों में एक पेड़ के नीचे खड़ा होना सख्त मना है। यदि इसका दूध आप के कपड़ो पर पड़ जाए तो उसमें से धुंआ निकलने लगता है, और यदि वह धुंआ आपकी आंखों तक पहुंचाएं तो आप अंधे भी हो सकते हैं।

यदि आप उसके दूध के संपर्क में आते हैं तो आपको एक क्यूट केराटोकंजेक्टिवाइटिस या फिर बुलोस डर्मेटाइटिस या फिर कोर्निअल एपिथेलियल नामक रोग हो सकता है।

यदि कोई व्यक्ति इस पर लगे हुए फल को ग्रहण करता है, तो आपके शरीर के अंदर नसों से खून फटकर बाहर आने लगेगा, आपको सुपर इंफेक्शन हो सकता है, या फिर गैस्ट्रोएन्टराइटिस हो सकता है, जिसके कारण आप सांस लेना बंद कर देंगे।

यदि आपको समय पर इलाज नहीं मिला तो आप मात्र 2 घंटे में मृत्यु को प्राप्त हो जाएंगे।

हालांकि कई जीव जंतु ऐसे होते हैं जो इसका फल खाने के लिए इसके पेड़ पर जाते हैं, जैसे कि काले रंग का इगुआना इस पेड़ पर रहता है, तथा अपने बच्चों को भी यहीं पैदा करता है। तथा इस पर लगने वाले फलों को खाता है।

Also read:

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना कि दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा होता है। पूरी दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कहां पाया जाता है। दुनिया के सबसे जहरीले पेड़ का नाम क्या है, तथा दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ क्या कर सकता है, इसके बारे में कभी हमने आपको पूरी जानकारी दी है।

हम आशा करते हैं कि आप समझ चुके होंगे कि पूरी दुनिया का सबसे जहरीला पेड़ कौन सा है।

धन्यवाद