1971 का महागठबंधन क्या था? | 1971 mahagathbandhan kya tha?

नमस्कार दोस्तो, आपने अपने जीवन के अंतर्गत सन 1971 के महागठबंधन के बारे में तो जरूर सुना होगा, जो लोग राजनीति के अंतर्गत अपना इंटरेस्ट रखते हैं उनको इसके बारे में जरूर पता होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि 1971 का महागठबंधन क्या था, (1971 mein grand alliance kya tha) यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि 1971 का महागठबंधन क्या था, (1971 mein grand alliance kya tha) जिनके माध्यम से सपन दोष से मुक्ति मिल सकती है, हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

1971 का महागठबंधन क्या था? (1971 mein grand alliance kya tha)

1971 ka mahaagathabandhan kya tha?

यदि दोस्तों आपको इसके बारे में पता नहीं है, 1971 के अंतर्गत हुआ महागठबंधन क्या था, (1971 mein grand alliance kya tha) तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं, कि इसको भारत की सबसे बड़े गठबंधन के अंतर्गत माना जाता है। इस गठबंधन के अंतर्गत भारत के अनेक पार्टियां शामिल हुई थी, जिसके अंतर्गत उस वक्त की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस पार्टी का भी एक संगठन मौजूद था। 1971 के महागठबंधन के अंतर्गत शामिल पार्टियों की बात की जाए तो इसके अंतर्गत कांग्रेस पार्टी का एक संगठन था, इसके अलावा संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी, प्रजा सोशलिस्ट पार्टी, स्वतंत्र पार्टी, तथा भारतीय जनसंघ का नाम शामिल हैं।

1971 में महागठबंधन क्यों हुआ था?

दोस्तों आपकी मन में भी यह सवाल है कि 1971 के अंतर्गत महान गठबंधन क्यों हुआ था, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि 1971 के महागठबंधन का मुख्य कारण इंदिरा गांधी को माना जाता है। उस समय कांग्रेस पार्टी के अंतर्गत एक ऐसा गुट था, जो इंदिरा गांधी को नहीं चाह रहा था, कि वह भारत देश की प्रधानमंत्री बने। तो ऐसी परिस्थिति के अंतर्गत कांग्रेश के उस संगठन ने भारत की अलग-अलग पार्टियों के साथ मिलकर एक गठबंधन किया था, जिसे 1971 का महागठबंधन कहां गया। कांग्रेस पार्टी के इस संगठन ने हमारे द्वारा बताई गई इन सभी पार्टियों के साथ मिलकर यह गठबंधन किया था, और यह उस समय भारत की प्रमुख पार्टियों की सूची के अंतर्गत आती थी।

लेकिन दोस्तों इस गठबंधन के चलते कांग्रेस की इस संगठन को कोई सफलता नहीं मिली थी, अंत में बहुमत से इंदिरा गांधी के हाथ में ही रहा था, तथा इंदिरा गांधी उस समय भारत के प्रधानमंत्री बनी थी।

Also read:

इतिहास का जनक किसे कहा जाता है? कुतुब मीनार की लंबाई कितनी कितनी है?
राजस्थान में सबसे ज्यादा संख्या किस जाति की है? इंटरनेट का आविष्कार किसने किया हैं?
राजा जनक का ससुराल कहां था? रावण के पिताजी का नाम क्या था?
कोशिश शब्द का जनक कौन है? रावण का पूरा नाम क्या है?

आज आपने क्या सीखा

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि 1971 का महागठबंधन क्या था, (What was the Grand Alliance of 1971?) हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत के विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। इसके अलावा हमने आपके साथ इस पोस्ट के अंतर्गत 1971 के महागठबंधन से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी शेयर की है, जैसे कि 1971 का महागठबंधन क्या था, यह किसके खिलाफ शुरू किया गया था, तथा इसके अंतर्गत कौन-कौन सी प्रमुख पार्टियां शामिल थी।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह इंफॉर्मेशन पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। इस पोस्ट को सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा इस विषय के बारे में अपनी राय हमें नीचे कमेंट में जरूर बताएं।

FAQ

वर्ष 1971 में भारत में कौनसा आम चुनाव हुआ था?

मार्च 1971 में भारत में 5वीं लोकसभा के लिए आम चुनाव हुए। 1947 में आजादी के बाद यह पांचवां चुनाव था। 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 518 निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व किया गया था, जिनमें से प्रत्येक में एक सीट थी।

1977 के लोकसभा चुनाव में कौन सी पार्टी जीती थी?

उन्होंने देश भर में जोरदार प्रचार किया और मार्च 1977 में आयोजित छठी लोकसभा के आम चुनावों में जनता पार्टी की भारी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

1971 में भारत में किस पार्टी की सरकार थी?

इंदिरा गांधी के नेतृत्व में, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आर) ने एक अभियान का नेतृत्व किया जिसने गरीबी को कम करने पर ध्यान केंद्रित किया और शानदार जीत हासिल की, पार्टी में विभाजन पर काबू पाया और पिछले चुनाव में खोई हुई कई सीटों को फिर से हासिल किया। इसे हासिल किया।

1971 का युद्ध क्यों हुआ था?

उनका कहना है कि 1971 के युद्ध में भारत की भूमिका थी, लेकिन इसका मुख्य कारण पाकिस्तान में उस समय की सरकारों की विफलता थी, जिसने बंगालियों के खिलाफ भेदभाव और अलगाव को बढ़ावा दिया। पूर्वी पाकिस्तान में बंगाली बहुसंख्यक थे। 1947 के दौरान, बंगाल एकमात्र ऐसा क्षेत्र था जहाँ पाकिस्तान की मुस्लिम लीग सत्ता में थी।

HomepageClick Hear