शेयर क्या होता है और इसे कैसे ख़रीदे – सम्पूर्ण जानकारी

शेयर क्या होता है (Shares Meaning in Hindi) – कोई भी निवेशक जो शेयर मार्केट में निवेश करने जा रहा है, उसे शेयर बाजार में निवेश करने से पहले शेयर क्या होता है, इसका मूलभूत ज्ञान होना चाहिए। कुछ ऐसे शुरुआती निवेशक होते हैं, जो बिना शेयर बाजार और शेयर की जानकारी ग्रहण किया निवेश करना शुरू कर देते हैं, जिससे कि उन्हें काफी हानि भी होती है।

लेकिन अगर आप जानना चाहते हैं कि शेयर क्या होता है तो आज का यह लेख आपके लिए ही है। क्योंकि आज के इस लेख में हम Share Meaning in hindi के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्राप्त करेंगे और शेयर के विभिन्न प्रकारों के बारे में भी जानेंगे। तो लिए बिना देरी के यह लेख को शुरू करें।

शेयर क्या होता है? | Share Meaning in hindi

जैसा कि हम सभी जानते हैं शेयर का मतलब होता है, किसी को अपने चीज़ में से थोड़ा हिस्सा देना। इस प्रकार शेयर मार्केट में शेयर का मतलब भी यही होता है। यहां पर कंपनी अपनी पूंजी में से कुछ हिस्सा निवेशकों को देती है, जिन्होंने कंपनी का हिस्सा पाने के लिए पैसे दिए हैं।

इस प्रकार शेयर कंपनी की पूंजी का एक सबसे छोटा हिस्सा होता है। जब कोई कंपनी सार्वजनिक रूप से कारोबार करती है, तो वह अपने शेयरों को बेचकर पूंजी जताती है।

यानी कि जब कंपनी को अपना कारोबार बढ़ाने के लिए पूंजी की जरूरत होती है तो वह पब्लिक में अपनी कंपनी का कुछ शेयर बिक्री करने के लिए छोड़ देती है। फिर अगर निवेशकों को यह लगता है कि यह कंपनी आगे उन्हें अच्छा मुनाफा दे सकती है तो निवेशक कंपनी को पैसे देकर उनके शेयर खरीद लेते हैं। और वह कंपनी के शेयरधारक बन जाते हैं।

शेयरधारक को कंपनी का मालिक भी कहा जाता है क्योंकि एक प्रकार से शेयर धारक कंपनी के कुछ हिस्से का मालिक होता है और कंपनी के मुनाफे में से उन शेयरधारकों को भी कुछ हिस्सा दिया जाता है।

शेयर की परिभाषा

कई लोगों ने शेयर की अपनी अपनी परिभाषा दी है। जिनमें से एक परिभाषा यह है कि “शेयर एक इक्विटी सुरक्षा है जो कंपनी के स्वामित्व का प्रतिनिधित्व करती है। शेयरधारक कंपनी के मालिक होते हैं और उन्हें कंपनी के मुनाफे का हिस्सा मिलता है”।

शेयर कितने प्रकार के होते हैं?

शेयर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

  • Equity शेयर
  • और Prefrence Share

। आईये इन दोनों ही शेयर के प्रकार को हम अलग-अलग समझते हैं।

इक्विटी शेयर क्या है?

इक्विटी शेयर को बड़ा शेयर के रूप में भी जाना जाता है। क्योंकि ज्यादातर कंपनियां इक्विटी शेयर ही जारी करती है। इक्विटी शेयर कंपनी में शेयर धारकों को स्वामित्व दिलाते हैं। जब आपके पास इक्विटी शेयर होते हैं तो आप कंपनी के आशिक मालिक होते हैं और इसकी संपत्ति और कमाई पर आपका दवा होता है।

इक्विटी शेयर धारकों के पास आमतौर पर कंपनी के निर्णय लेने की प्रक्रियाओं में शामिल होने का अधिकार होता है। इक्विटी शेयर स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेड किए जाने वाले सबसे आम प्रकार के शेयर होते हैं। या सबसे अधिक और स्थिर प्रकार के शेयर भी हैं क्योंकि इनकी मूल्य में काफी ज्यादा उतार चढ़ाव होता रहता है।

ऐसा इसलिए भी है क्योंकि इक्विटी शेयर सीधे कंपनी की परफॉर्मेंस से जुड़े होते हैं। यदि कंपनी अच्छा प्रदर्शन करती है तो उसकी इक्विटी शेयरों का मूल्य बढ़ जाएगा। लेकिन अगर कंपनी खराब प्रदर्शन करती है तो उसके इक्विटी शेयरों का मूल्य कम हो जाएगा।

Prefrence Share क्या है?

Preference Share जिन्हें अक्सर प्रेफर्ड शेयर भी कहा जाता है किसी कंपनी में स्वामित्व का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। यदि कोई शेयरधारक कंपनी के प्रेफरेंस शेयरों को खरीदने हैं तो उनके पास कंपनी की निर्णय मैं भाग लेने का अधिकार नहीं होता है।

Preference Share अक्सर उन कंपनियों द्वारा जारी किए जाते हैं जो पूंजी जुटाना तो चाहते हैं लेकिन आम शेयर धारकों को उतना नियंत्रण नहीं देना चाहते। इन का प्रयोग उन निवेशकों को आकर्षित करने के लिए किया जाता है जो गारंटीड इनकम सरिता के साथ अधिक स्थिर निवेश करना चाहते हैं।

Prefrence Share खरीदने वाले शेयर धारकों के पास प्रॉफिट प्राप्त करने का पहले से ही एक निश्चित प्रतिशत होता है। यानी की भले ही कंपनी को कितना भी अधिक लाभ हो परंतु Shareholders को एक निश्चित लाभांश ही प्राप्त होगा।

परंतु यहां पर शेयरधारकों को हानि होने का कम जोखिम होता है क्योंकि जब भी प्रॉफिट शेयर करने की बात आती है तो यहां पर सबसे पहले Prefrence Shareholders को प्राथमिकता दी जाती है।

शेयर कैसे काम करता है?

लिए हम समझते हैं कि शेयर कैसे काम करता है। हम यह जानते हैं कि शेयर किसी कंपनी में स्वामित्व की एक इकाई होती है। जब आप कोई शेयर खरीदने हैं तो आप कंपनी का एक छोटा सा हिस्सा खरीद रहे होते हैं। आपके पास जितने अधिक शेयर होंगे कंपनी में आपकी Ownership भी उतनी ही अधिक होगी।

शेयर स्टॉक एक्सचेंज पर खरीदे एवं बेचे जाते हैं। किसी शेयर की कीमत उसके मांग और आपूर्ति पर आधारित होती है। यदि ज्यादा लोग किसी शेयर को बेचने के बजाय खरीदने हैं तो उसे शेयर की कीमत बढ़ जाती है। और अगर ज्यादा लोग शेयर को बेचना चाहते हैं तो उसकी कीमत कम हो जाती है।

शेयर से पैसे कैसे कमाए

अक्सर लोग सोचते हैं कि केवल शेयर को खरीद या बेचकर ही पैसे कमाए जा सकते हैं लेकिन शेयरधारक अपने शेयरों से दो तरह से पैसा कमा सकते हैं।

Dividend और Capital Appreciation

Dividend को हिंदी में लाभांश कहा जाता है। लाभांश कंपनी के मुनाफे का एक हिस्सा है, जो शेयरधारकों को भुगतान किया जाता है। यानी कि अगर कंपनी को लाभ होता है तो जितना भी हिस्सा शेयरधारकों के पास है उन्हें उतने प्रतिशत प्रॉफिट शेयर किया जाता है।

Capital Appreciation समय के साथ किसी शेयर के मूल्य में होने वाली वृद्धि है। जब किसी शेयर की कीमत बढ़ जाती है तो शेयर धारक लाभ के लिए अपने शेयर बेच देते हैं।

शेयर एक जोखिम भरा निवेश होता है। किसी शेयर की कीमत जब नीचे आती है तो लोगों को हानि होती है और जब शेयर की कीमत बढ़ती है, तो लोगों को लाभ होता है।

कंपनी शेयर क्यों जारी करती है?

कोई भी कंपनी शेयर पूंजी जुटाना के लिए शेयरों को जारी करती है। जब कंपनियां अपना कारोबार बढ़ाना चाहती है और कंपनियों को इसके लिए पैसे की जरूरत होती है तो वह पैसे जुटाना के लिए अपनी कंपनी का कुछ हिस्सा बाजार में जारी कर देती है।

फिर जैसे-जैसे लोग कंपनी के शेयरों को तय किए गए कीमत पर खरीदने जाते हैं, कंपनी को उतने पैसे मिलते जाते हैं। तो जैसे-जैसे कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ती जाती है कंपनी को भी अधिक पूंजी मिल जाती है जो कि वह अपने कारोबार को बढ़ाने में लगती है।

शेयर कैसे खरीदा जाता है?

जैसा कि हमने जाना शेयरों को शेयर बाजार में खरीदा और बेचा जाता है। शेयर खरीदने के लिए हमें ब्रोकर की आवश्यकता होती है। पहले के समय में मुंबई जाकर शेयर ब्रोकर से मिलना होता था और उसके माध्यम से शेयर खरीदे जाते थे।

परंतु अब ऑनलाइन माध्यम से ही शेयर आसानी से खरीदा और बचा जा सकता है। इसके लिए हमें शेयर ब्रोकर एप्स पर अपना एक डीमैट अकाउंट खोलना होगा। डिमैट अकाउंट एक इलेक्ट्रॉनिक अकाउंट है जिसमें हमारे शेयरों को रखा जाता है।फिर इसी डिमैट अकाउंट के माध्यम से आप अपना पसंदीदा शेयर खरीद और भेज सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े:

FAQ’s

Q. एक शेयर कितने का होता है?

Ans- कंपनी का शेयर की कीमत निर्धारित नहीं होती है। यह घटती और बढ़ती रहती है। कुछ कंपनी के शेयर ऐसे भी होते हैं जिनके कीमत ₹10 से शुरू होती है और कुछ कंपनी के शेयर ऐसे भी होते हैं जिनकी कीमत ₹1000 से शुरू होती है।

Q. शेयर खरीदने का मतलब क्या होता है?

Ans- शेयर खरीदने का मतलब यह होता है कि आप कंपनी के कुछ हिस्से को खरीद रहे हैं और कंपनी के कुछ प्रतिशत मालिक बन रहे हैं।

Q. दिन में शेयर बाजार में कितना पैसा कमा सकते हैं?

Ans- यह बता पाना मुश्किल होगा कि एक दिन में शेयर बाजार में कितना पैसा कमाया जा सकता है। क्योंकि यह किसी भी निवेशक के लगाए गए पैसे और शेयर की कीमत पर निर्धारित होता है। और साथ ही या कंपनी के प्रदर्शन पर भी आधारित होता है।परंतु लोगों ने शेयर बाजार से₹100 से लेकर₹100000 तक भी एक दिन में कमाए हैं।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने जाना की शेयर क्या होता है? उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आपको शेयर से संबंधित सभी आवश्यक जानकारियां मिल पाई होगी।यदि आप इस विषय पर कोई अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं। अगर आपके लेख पसंद आया हो तो अपने अन्य दोस्तों के साथ भी साझा करें। यदि आपके मन में इस लेख से संबंधित कोई सवाल है जो आप हमसे पूछना चाहते हैं तो कॉमेंट बॉक्स में कॉमेंट कर के पूछ सकते हैं।

HomepageClick Hear