भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग कौनसा है?

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग कौनसा है?

दोस्तों, जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे पूरे भारत में 599 नेशनल हाईवे है। इन सभी नेशनल हाईवे का इस्तेमाल करके बड़े-बड़े ट्रांसपोर्टेशन काम किए जाते हैं, और इन सभी का निर्माण मुख्य रूप से सड़क एवं परिवहन मंत्रालय के अधीन होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन सभी 599 नेशनल हाईवे में से Bharat ka sabse lamba rashtriya rajmarg कौन सा है?

यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं आज हम आपको बताएंगे कि Bharat ka sabse lamba rashtriya rajmarg कौनसा है, इसका निर्माण कब हुआ था, तथा भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) के संबंध में हम आपको सभी जानकारी प्रदान करने की कोशिश करेंगे। तो चलिए शुरू करते हैं

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग कौनसा है? (Bharat ka sabse lamba rashtriya rajmarg kon sa hai)

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग नेशनल हाईवे 44 है। नेशनल हाईवे 44 मूल रूप से उत्तर से दक्षिण की ओर जाने वाला यह दक्षिण से उत्तर की ओर जाने वाला एक राष्ट्रीय राजमार्ग है, जो पूरे भारत को ऊपर से नीचे की ओर जोड़ता है।

यह राष्ट्रीय राजमार्ग जम्मू के श्रीनगर से लेकर कन्याकुमारी तक निरंतर चलने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) है। भारत का यह सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग जाब हरियाणा से होता हुआ आंध्र प्रदेश कर्नाटक और तमिलनाडु के राज्यों तक पहुंच जाता है।

भारत का राष्ट्रीय राजमार्ग 44 पूर्ण रूप से या आंशिक रूप से भारत के बड़े 7 राजमार्गों को अपने अंदर भी लेकर के अस्तित्व में आया है भारत का यह राष्ट्रीय राजमार्ग 4112 किलोमीटर लंबा है यह दक्षिण में जम्मू कश्मीर के श्रीनगर से शुरू होता है तथा दक्षिण में तमिलनाडु के कन्याकुमारी में समाप्त होता है ।

राष्ट्रीय राजमार्ग 44 कब बना?

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) का निर्माण सन 2010 में हुआ था और इसका निर्माण 2019 में समाप्त हुआ।

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग किन क्षेत्रों से होकर गुजरता है?

bharat ka sabse lamba rashtriya rajmarg inmein se kaun hai

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग भारत के कई शहरों से होकर गुजरता है सबसे पहले हम आपको बताते हैं कि यह किन राज्यों से होकर गुजरता है यह राष्ट्रीय राजमार्ग पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, राज्य से होकर गुजरता है।

इसके अलावा दिल्ली तथा जम्मू कश्मीर यूनियन टेरिटरी से होकर भी गुजरता है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग मूल रूप से श्रीनगर, जम्मू, पठानकोट, जालंधर, अंबाला, लुधियाना, आगरा, दिल्ली, झांसी, ग्वालियर, हैदराबाद, लालपुर, धर्मपुरी, बेंगलुरु, करूर, सेलम, तिरुनेलवेली, मदुरई और कन्याकुमारी (क्रम में नहीं) से होकर गुजरता है।

राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 44 किन किन राष्ट्रीय राजमार्गों से होकर गुजरता है?

राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 44 डोमेल में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 144 जम्मू में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 144a पठानकोट में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 54 जालंधर में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 3 लुधियाना में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 5 राजपुरा में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 7 अंबाला में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 344 तथा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 152 करनाल में होकर गुजरता है।

इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 709 पानीपत में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 709 सोनीपत में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 334b नई दिल्ली में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 9 राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 19 राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 48 में से, तथा पलवल में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 919 आगरा में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 21 धौलपुर में, होकर गुजरता है।

इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 23 ग्वालियर में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 719 झांसी में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 27 व राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 39 सागर में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 146 नरसिंहपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 547 लंडन में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 34 सिवनी में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 347 रामटेक में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 753 निर्मल में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 61 निजामाबाद में होकर गुजरता है।

इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 63 हैदराबाद में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 65 राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 163 राजमार्ग 765 कुरनूल में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 40 धान में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 340C गूटी राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) अनंतपुर में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 42 चिक्काबल्लापुर में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 69 बेंगलुरु में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 48 राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 200 राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 75 राजमार्ग 275 होसुर में होकर गुजरता है।

इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 648 कृष्णागिरी में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 77 धर्मपुरी में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 844 सालेम में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 79 तथा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 544 कुरूर में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 81 डिंडीगुल में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 83 तथा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 183 मदुरई में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 85 तिरुमंगलम में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 744 तिरुनेलवेली में, राजमार्ग 138 नगरकोइल में राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 944 कन्याकुमारी में, राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 66 से होकर गुजरता है।

भारत के सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) कौन से हैं?

भारत में कई राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) महत्वपूर्ण है जैसे कि राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 44 जो 3745 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 27 जो 3507 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 48 जो 2807 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 52 14317 किलोमीटर लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 2040 किलोमीटर लंबा है।

राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 6 जो 1873 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 53 जो 1781 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 16 जो 1711 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 66 जो 1622 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 19 जो 1435 किलोमीटर लंबा है। राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 34 जो 1426 किलोमीटर लंबा है। यह भारत के सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग हैं।

Also read:

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको बताया कि Bharat ka sabse lamba rashtriya rajmarg कौनसा है, व किन क्षेत्रों से होकर गुजरता है, तथा उसको बनाने में कितना समय लगा है। साथ ही साथ हमने आपको यह भी बताया है कि भारत के सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग कौन से हैं।

हम आशा करते हैं कि आप समझ चुके होंगे कि भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) कौनसा है। यदि आपके मन में इस लेख से संबंधित कोई सवाल हैं तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

FAQ

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग की लंबाई कितनी है?

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग NH 44 है जो सिलचर को पोरबंदर से कन्याकुमारी तक जोड़ता है जिसकी कुल लंबाई 4117 किलोमीटर है।

नेशनल हाईवे नंबर 1 कौन सा है?

राष्ट्रीय राजमार्ग 1 (अंग्रेजी: राष्ट्रीय राजमार्ग 1 या NH1) भारत-पाकिस्तान सीमा के पास दिल्ली से अटारी तक चलने वाला 456 किमी लंबा राज्य राजमार्ग है। इसका मार्ग दिल्ली-अंबाला-जालंधर-अमृतसर-अटारी है। यह हाईवे दिल्ली को अमृतसर से जोड़ता है। पानीपत, अंबाला, लुधियाना और जालंधर शहर रास्ते में आते हैं।

एशिया का सबसे लंबा राजमार्ग कौन सा है?

सबसे लंबा खंड, AH1, टोक्यो से तुर्की-बुल्गारिया सीमा तक चलने वाले 20,557 किलोमीटर की दूरी तय करता है, जो रास्ते में कोरिया, चीन, दक्षिण पूर्व एशिया, भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान से होकर गुजरता है।